|

बिहार के इस जगह जाकर हरिद्वार को भूल जाएंगे श्रद्धालु, 115 करोड़ की लागत से होगा कायाकल्प

आज भी भारत में अगर किसी को धार्मिक अनुष्ठान के साथ-साथ छुट्टियां बिताने का मन होता है तो वह पावन नगरी हरिद्वार जाना पसंद करते हैं लेकिन अब बिहार के लोगों के लिए भी एक जिले में ऐसा स्थान बिहार सरकार बना रही है कि लोग अब हरिद्वार जाना छोड़कर बिहार में ही अपने धार्मिक पर्यटन को करना पसंद करेंगे। तो आज हम आपको बताने जा रहे हैं कि बिहार के किस जिले में हरिद्वार जैसा धाम विकसित किया जा रहा है और यहां पर आपको क्या-क्या सुविधा मिलेगी।

बिहार के इस जिले में होगा हरिद्वार जैसे धाम का विकास, जाने क्या-क्या होगा खास

जानकारी के मुताबिक बिहार के बेगूसराय जिले में जल संसाधन विभाग के द्वारा सिमरिया धाम के सौंदर्यकरण काम होगा। इस परियोजना का शिलान्यास मुख्यमंत्री नीतीश कुमार खुद बेगूसराय जाकर करने वाले हैं। वही सिमरिया धाम के विकास एवं सौंदर्यीकरण के काम का पहला चरण पूरा हो गया है। बनारस और हरिद्वार के गंगा घाटों की तर्ज पर सिमरिया धाम का विकास किया जा रहा है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार आज सिमरिया धाम जाकर इस योजना के साथ जल संसाधन विभाग द्वारा कार्यान्वित कुल 702 योजनाओं का लोकार्पण करेंगे।

WhatsApp Group Join Join WhatsApp Group

जून 2023 में शुरू हुआ था पहले फेज का काम

जल संसाधन विभाग के पूर्व मंत्री संजय झा ने अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर जानकारी देते हुए लिखा, “उत्तरवाहिनी गंगा तट पर स्थित पावन सिमरिया धाम के विकास एवं सौंदर्यीकरण के लिए जल संसाधन विभाग की 114.97 करोड़ रुपये की योजना का शिलान्यास सीएम नीतीश कुमार ने 30 मई 2023 को किया था। जून 2023 से योजना के पहले फेज का कार्य शुरू हुआ था। वही इस धाम पर  दोनों तटबंधों को संपूर्ण लंबाई में ऊंचा और मजबूत कर उस पर सड़क बना दिया जाएगा। इससे जयनगर (मधुबनी) से कुशेश्वरस्थान (दरभंगा) तक कमला के किनारे बसी बड़ी आबादी को बाढ़ से सुरक्षा के साथ-साथ तटबंधों के रास्ते आवागमन का एक वैकल्पिक मार्ग भी मिल जाएगा। बाढ़ से दीर्घकालिक सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए जयनगर (मधुबनी) में अत्याधुनिक कमला बराज का निर्माण भी तेजी से चल रहा है।”

हरिद्वार और बनारस के घाटों जैसा दिखेगा नजर, होगी आधुनिक सुविधाएं

जानकारी के अनुसार, सिमरिया धाम में सीढ़ी घाट के निर्माण और रीवर फ्रंट का विकास किया गया है। इस दौरान यहां पर स्नान घाट के नजदीक चेंजिंग रूम का निर्माण, स्नान घाट के समानांतर सुरक्षा की पुख्ता व्यवस्था की गई है। यहां पर गंगा आरती के लिए स्थल का निर्माण, धार्मिक अनुष्ठान के लिए मंडप का निर्माण, शेडेड कैनोपी, वॉच टावर, श्रद्धालुओं के बैठने की व्यवस्था और लैंडस्केपिंग, शौचालय परिसर, धर्मशाला, पार्क, पाथ-वे, पार्किंग, लाइटिंग का इंतजाम भी किया जायेगा। वही सिमरिया घाट परियोजना की पूर्ण होने के बाद यहां आने वाले श्रद्धालुओं को हरिद्वार और बनारस के घाट जैसे नजारे दिखाई देंगे जो अपने आप में धार्मिक पर्यटन का केंद्र बनेगा।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *