Sucess Story : बिहार का लाल कभी चलाता था ऑटो रिक्शा, आज खड़ी कर दी करोड़ की कंपनी, शार्क टैंक से उठाया फंडिंग

कहा जाता है कि अगर आप मेहनत करे तो आप जीवन में हर चीज पा सकते हैं। कुछ ऐसा ही करके दिखाया है, बिहार के लाल ने अगर उनकी कहानी आप जानेंगे तो आप भी इनकी कहानी से प्रेरित जरूर हो जाएंगे।

कभी चलाते थे ऑटो रिक्शा

दरअसल आपको बता दूं कि दरभंगा के रहने वाले दिलखुश कुमार कभी ऑटो रिक्शा चालक थे। यहां तक कि उनके पिताजी भी टैक्सी चलाते थे, टैक्सी चलाते- चलाते उन्हें जब पैसे की तंगी हुई तो वह बिहार से बाहर पलायन कर गए और वह काम करने लगे।

WhatsApp Group Join Join WhatsApp Group

काम करते-करते उन्हें आइडिया आया कि वह एक ओला उबर जैसी एक टैक्सी सर्विस कंपनी खोलेंगे। जिसके बाद वह टैक्सी सर्विस कंपनी शुरू कर दी उन्होंने अपनी पहली टैक्सी सर्विस कंपनी आर्य गो से शुरू की जो की दरभंगा से इसकी शुरुआत की देखते देखते उनकी यह कंपनी करोड़ों रुपए की हो गए।

इसके बाद उन्होंने पटना आने का मन बनाया और पटना में ही अपना रोडवेज नाम की टैक्सी सर्विस कंपनी खोली और आज वह कंपनी करोड़ों की हो चुकी है

शाशर्क टैंक ने दी करोड़ की फंडिंग

जैसे ही टैक्सी सर्विस शुरू की गई उसके बाद ही शार्क टैंक में इन्हें जगह मिली दरअसल शर्क टैंक सोनी टीवी का एक प्रचलित शो है जिसके जरिए एक बिजनेसमैन को कंपनी खड़ा करने के लिए पैसे दी जाती है और इसी सोनी टीवी के साथ शो में इन्हें करोड़ की फंडिंग मिल गई है।

सिर्फ दसवीं पास में दिलखुश

बिहार के रहने वाले दिलखुश बताते हैं कि वह मार्च 2008 में 16 साल की उम्र में टैक्सी चलाना शुरु कर दिया था। वहां उन्हें नौकरी भी नहीं मिली इसके बाद उन्होंने यह फैसला किया कि वह अपना एक टैक्सी की कंपनी खड़ी करेंगे।

इसके बाद उन्होंने अपनी दो टैक्सी की कंपनी खाड़ी कर दी जिसमें से रोडवेज कंपनी अभी 4 करोड़ की कंपनी बन चुकी है और शर्क टैंक में इन्हें जगह भी मिली है।

Also Read : BPSC में पति को नहीं सफलता, उनकी किताब पढ़ कर पत्नी बन गई अफसर कही यह बड़ी बात

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *