First Women Pilots : बिहार की बेटी परवीन बनी पहली मुस्लिम पायलट, गजब है संघर्ष की कहानी

बिहार के लोग सदियों से अपनी उपलब्धि के लिए जाने जाते हैं। बिहार की एक बेटी ने कुछ ऐसा कारनामा करके दिखाया है, जो बिहार में ऐसी पहली बार हुआ है। दरअसल बिहार के सिवान के प्रवीण ने ऐतिहासिक उपलब्धि हासिल की है।

कई परेशानी के बावजूद भी बिहार के रहने वाली प्रवीण ने यह उपलब्धि हासिल की है, तो चलिए खबर में आगे जानते हैं सादिया के बारे में की उन्होंने क्या उपलब्धि हासिल की है और उनकी कहानी आपको एक बार जरूर इंस्पायर कर देगी।

WhatsApp Group Join Join WhatsApp Group

सादिया बनी पहली मुस्लिम महिला पायलट

आपको बता दें कि बिहार के सिवान जिला के रहने वाली सादिया ने बड़ी उपलब्धि हासिल की है। बताया जा रहा है की सादिया अब सिवान की पहली मुस्लिम महिला पायलट बन चुकी है। शादियां ने संयुक्त यानी कि यूएई से पायलट की ट्रेनिंग हासिल की।

बचपन से था उड़ने का सपना

सादिया बताती है की बचपन से ही वह पायलट बनना चाहती थी। अब वह उनका सपना सच हो चुका है। उन्होंने हमेशा से ही अपने सपना को उड़ान देने के लिए काम किया।

शादियां बताती कि उन्होंने कोलकाता से अपनी पढ़ाई पूरी की, जिसके बाद वह यूएई में 2 साल रहकर पायलट की ट्रेनिंग ली और अब वह एक लाइसेंस प्राप्त पायलट बन चुकी है।

जानिए सदिया के बारे में

आपको बता दूं सिवान जिला के रघुनाथपुर प्रखंड के नियतारी के रहने वाली शादियां परवीन फिलहाल कोलकाता में रह रही है। हालांकि उनके पैतृक गांव में आना-जाना रहता है, और उनके माता-पिता और घर के सभी सदस्य गांव में ही रहते हैं। सादिया के पिता बिजनेसमैन है सादिया की सफलता से उनके पूरे परिवार में खुशी के लहर है।

दुनिया में उड़ान भरना चाहती है सादिया 

सादिया बताती है कि वह पूरी दुनिया में उड़ान भरना चाहती है, और अपने गांव और अपने देश का सपना पूरा करना चाहती है।

उन्होंने कहा कि इन महिलाओं को भी प्रोत्साहित व करना चाहती है, और बताती है कि वह भी अपने सपनों के लिए कम करें सादिया बताती है कि महिलाएं किसी भी क्षेत्र में अपना परचम लहरा सकती है।

Also Read : बिहार के लाल ने सत्तू बेचकर खड़ी कर दी करोड़ की कंपनी, विदेश में बेचते हैं सत्तू

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *