IAS Success Story : स्कूल में खाना बनाने वाली की बेटा बन गया अफसर, घर में खुशी की लहर

अफसर बनना कई लोगों की ख्वाहिश होती है, वही आपको बता दे कि बिहार सहित देश के कई राज्यों में लोग सिविल सर्विस की तैयारी करते हैं और उन्हें अफसर बनना ख्वाहिश होता है।

कई लोग सिविल सर्विस का तैयारी कई परेशानियों को उठाते हुए करते हैं, और इन्हीं परेशानी में वह सिविल सर्वेंट भी बन जाते हैं। कुछ ऐसा ही करके दिखाया है स्कूल में खाना बनाने वाली की बेटे ने तो चलिए जानते हैं आगे खबर में इनकी सक्सेस स्टोरी के बारे में।

WhatsApp Group Join Join WhatsApp Group

दरसल डोगरे रेवी तेलंगाना के रहने वाले हैं, उन्होंने 4 साल की उम्र में ही अपने पिता को खो दिया, जिसके बाद उनके घर की स्थिति खराब होने लगी उनके परिवार पूरी तरीके से आर्थिक तंगी से जूझने लगा।

उनकी बीटा ने हार नहीं मानी और गांव के ही स्कूल से दसवीं और बारहवीं की परीक्षा पास कि वह इंजीनियर बनना चाहते थे, इसलिए वह 12वीं में इंजीनियरिंग एक्स्ट्रा एग्जाम पास कर आईटी मद्रास में एडमिशन लिया वह वहां पर भी नहीं रुकी और आगे का सफर जारी रखी।

मां के दुख को नहीं देखा गया

उधर डूंगरी अपनी मां के दुख को नहीं देख पा रही थी, और उनके संघर्ष को देख कर उन्हें नहीं रहा गया, इसलिए वह आईएएस बनकर उनका ख्वाब पूरा करना चाहती थी, और सभी परेशानी से अपनी मां को निकालना चाहता था।

शुरू की इसकी तैयारी

उधर डोंगरे ने आईएएस की तैयारी शुरू की, उन्होंने 2020 में आईएएस की तैयारी शुरू कर दी, इसके बाद वह तैयारी करते-करते उनकी आईएएस का एग्जाम में वह दो नंबर से पास करने से रह गए लेकिन उन्होंने हार नहीं मानी। और उसके बाद वह नौकरी छोड़ दी 2022 में उन्होंने आईएएस में अपना परचम लहराया और वह अफसर बन गए।

आज वह आईएएस बनकर पूरे घर की परेशानी को दूर की और अपने मन की सपने को पूरा की आपको बता दूं कि डोगरे इन दोनों मसूरी में स्थित इस ट्रेनिंग कॉलेज में है डोगरे ने इंस्टाग्राम पर यूपीएससी मार्कशीट post की है जहां पर उन्होंने अच्छी नंबर प्राप्त की।

Also Read : इन 3 खान भाइयो ने किया कमाल, 24 घंटो में ठोका कई सतक

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *