यह है बिहार का एकमात्र जिला जहां पर होती है चाय की खेती जानिए

0
350

जब भी चाय की खेती की बात आती है तो हमें असम जैसे राज्य के नाम याद आते हैं लेकिन बिहार का भी कुछ ऐसा जिला है जहां पर आपको चाय की खेती होती हुई दिखेगी। इन जिलों में आकर आपको ऐसा एहसास होगा कि आप किसी असम, दार्जलिंग के जिले में आ गए हैं क्योंकि आपको यहां पर चारों तरफ चाय के बागान देखने के लिए मिलेगा।

दरअसल आपको बता दूं कि बिहार का सीमावर्ती इलाका जो कि बंगाल नेपाल और बांग्लादेश से सटा हुआ है वहां पर चाय की खेती की जाती है दरअसल बिहार के किशनगंज जिला में चाय की खेती की जाती है आपको बता दूं कि यह जिला साक्षरता सहित तमाम मामलों में पिछड़ा हुआ जिला भले ही है लेकिन अब यह जिला धीरे धीरे राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अपना पहचान बना रहा है।

इसके अलावा किशनगंज में आपको परंपरागत खेती के अलावा ड्रैगन फ्रूट्स जैसे कई अलग-अलग फलों की खेती की जाती है आपको बता दूं कि अभी फिलहाल चाय की खेती किशनगंज में 25000 हेक्टेयर में हो रहा है आपको जानकारी के लिए बता दूं कि किशनगंज जिला पूरे देश का सबसे ज्यादा चाय उत्पादन वाला एरिया असम गुवाहाटी और दार्जिलिंग के पास ही स्थित है इस वजह से किशनगंज के ठाकुरगंज कोठिया प्रखंड में इसकी सबसे ज्यादा खेती की जा रही है।