Bihar Board Topper : रिक्सा चलाने वाली की बेटी बनी बिहार बोर्ड की टॉपर पिता कमाते है महज 300 रुपए

बिहार बोर्ड का रिजल्ट आ चूका है ऐसे में कई छात्रों ने टॉप किया है। वही इसी क्रम में बिहार में कई छात्रों ने टॉप ऐसी प्रस्तिथि में किया है जिसको अगर आप जानेंगे तो आप भी इनके स्टोरी से इंस्पायर हो जाएंगे।

बिहार बोर्ड के 12 वी का रिजल्ट में कुल 87.21% छात्र पास हुए हैं. इसी में नवादा के रहने वाले और ई-रिक्शा चालक शंकर कुमार साव की बेटी दीपाली कुमारी ने कॉमर्स स्ट्रीम में पुरे बिहार में टॉप 5 में आई है तो चलिए जानते है इनकी स्टोरी के बारे में।

WhatsApp Group Join Join WhatsApp Group

गरीबी के बाबजूद नहीं छोरा पढाई 

कहते है किसी भी गरीबी को सिर्फ एक ही चीज़ मिटा सकता है वह है वह है एजुकेशन कुछ ऐसा कर के दिखा दिया है, दीपाली कुमारी जिन्होंने विषम परिस्थिति में कड़ी मेहनत कर टॉप 5 में अपना स्थान बना ली है।

पिता चलते थे इ रिक्सा

जानकारी के लिए बता दें कि पिता उनके ई रिक्शा चलाते हैं और थोड़े से पैसे कमाकर वह अपनी बेटी की पढ़ाई को जारी रखा। दूसरी तरफ उनकी बेटी दीपाली ने इसी गरीबी में कड़ी मेहनत की और आज वह कॉमर्स स्ट्रीम में टॉप 5 में आ चुकी है।

बड़ा है मुकाम 

आपको बता दूँ की दीपाली कुमारी बताती है की वह आगे भी पढाई जारी रखेंगे और अपने परिवार को गरीबी से निकलेगी। दीपाली आगे पढाई कर के वह चार्टर्ड अकाउंटेंट (सीए) बनेंगे और आगे चल कर वही परिवार को गरीबी से निकलेगी।

परिवार ने कही यह बड़ी बात 

बता दें कि दीपाली कुमारी की मेहनत पर आज पूरा परिवार गौरवित है और पूरे परिवार के आंखों में खुशी के आंसू है. पूरे परिवार का एक ही कहना है कि बेटा और बेटी में कभी अंतर नहीं करना चाहिए. अगर उन्होंने भी बेटा और बेटी में अंतर किया होता, तो आज उनकी बेटी इस मुकाम को हासिल नहीं कर पाती.

पिता ने कहा बड़ी बात 

दीपाली के पिता बड़ी बात कही आपको बता दें की दीपाली के पिताजी शंकर कुमार साव ने बताया कि में ई-रिक्शा चलाकर प्रतिदिन 300 रुपये कमाता हूं और उसी से पूरे घर के खर्च के साथ बेटी को पढ़ा रहा हूं. वह आगे यह भी बताते है की उनकी बेटी बाउट ही मेहनती है और वह हर रोज 8 घंटे तक पढाई में मेहनत करते है।

और पढ़े : बिहार के इस युवा ने समाज से लड़कर बन गया अफसर

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *