87 साल बाद बिहार के मिथिला-कोसी के बिच दौड़ेगी ट्रेन, जानिए किन जिलों को मिलेगा सीधे तौर पर लाभ

0
7960

बिहार में रेलवे की विकास अब एक बार फिर से तेज गति से हो रही है, आपको बता दूं कि रेलवे के विकास के मामले में मिथिला क्षेत्र थोड़ा बहुत पीछे था, लेकिन एक बार फिर से कई दशकों के बाद मिथिला क्षेत्र में रेलवे का विकास तेजी से शुरू हो गया है। आपको बता दूं कि करीब 87 साल बाद मिथला और कोसी जोड़ने के लिए एक शानदार रेल परियोजना शुरू की गई थी, वहीं अब इस रेल परियोजना पर काम पूरा हो गया है, और इन रूट पर ट्रेन सेवा बहाल होगी।

दरअसल आपको बता दूं कि मिथिला और कोसी के बीच 30 जून से रेल लाइन पर ट्रेन सेवा बहाल होने वाली है, अगर इतिहास पर एक नजर डालें तो 1934 में आए भूकंप से कोसी नदी पर बने रेल पुल क्षतिग्रस्त हो गया था। जिसे दरभंगा से सहरसा रेलखंड पर ट्रेन सेवा करीब 87 सालों तक बाधित रहा। सेवा के बाहर होने से मिथला और कोसी क्षेत्र के कई इसका लाभ मिलेगा।

रेलवे प्रशासन की तरफ से मिली जानकारी के अनुसार इस रूट पर ट्रैन शुरू होने से दरभंगा से सकरी और सकरी से झंझारपुर और झंझारपुर से कुपाहा और कुपाहा से आसनपुर और आसनपुर से सुपौल से सहरसा के बीच रेल सेवा जल्दी बहाल होने वाली है, आपको बता दो कि अभी वर्तमान समय में दरभंगा के लोग अगर सहरसा जाना चाहते हैं तो वह समस्तीपुर खगड़िया होकर जाना पड़ता है जिसमें करीब 5 से 6 घंटे लगते हैं, काल्पनिक तस्वीर।