बिहार की इस जिले में बनाया जा रहा है तैरता बिहार का पहला सोलर प्लांट, जानिए क्या-क्या होगा खास

0
235

बिहार में आए दिन राज्य सरकार के द्वारा ऊर्जा के नए नए साधनों का विकास किया जा रहा है। इसी कड़ी में बिहार सरकार लगातार सौर ऊर्जा को बढ़ावा देने का काम कर रही है। पिछले दिनों बिहार के सभी पंचायतों में स्ट्रीट सोलर लाइट लगाने का भी प्रस्ताव दिया जा चुका है। बता दें कि राज्य सरकार सोलर ऊर्जा को बढ़ावा देने के लिए बिहार के 1 जिले में तैरता हुआ सोलर प्लांट पर काम तेज़ी से किया जा रहा है। इसके साथ-साथ इस सोलर प्लांट के माध्यम से लोगों को बिजली भी उत्पन्न कराई जाएगी।

जानकारी के अनुसार यह पावर प्लांट बिहार के दरभंगा में बनाया जा रहा है। जल्द ही दरभंगा में पानी में तैरता हुआ बिहार का पहला सोलर प्लांट देखें के लिए मिलेगा। तालाबों के शहर से मशहूर दरभंगा में फ्लोटिंग सोलर पावर प्लांट लगाने को लेकर कार्य शुरू कर दिया गया है। जो कि यह प्लांट 1.6 मेगावाट बिजली उत्पादन करेगी। इसकी सबसे बड़ी खासियत यह होगी कि जिस तालाब में प्लांट स्थापित होगा, उसमें मछली पालन के साथ-साथ सौर ऊर्जा से बिजली भी पैदा की जा सकेगी। बिहार में पानी के ऊपर तैरता पहला सोलर प्लांट दरभंगा में लगाने को सारी प्रक्रिया पूरी कर ली गई है।

बता दें कि दरभंगा का यह सोलर पावर स्टेशन लगभग लगभग तैयार कर लिया गया है। हालांकि पिछले साल कुछ कारणों के चलते इस परियोजना में कुछ देरी हुई थी लेकिन अब दरभंगा जिला प्रशासन के द्वारा इस परियोजना को अगले साल तक पूरा किए जाने का लक्ष्य रखा जा चुका है। बता दें कि बिहार सरकार के द्वारा इस योजना को 2019 में प्रस्तावित कर दिया गया था। इस परियोजना के प्रथम चरण के तहत सभी सरकारी-निजी कार्यालयों एवं संस्थानों की छत पर सोलर प्लांट लगाने का काम शुरू किया गया था, परन्तु तालाब में फ्लोटिंग सोलर प्लांट स्थापित करने में जमीन की समस्या आने पर परियोजना को नाका नंबर एक के पास शिफ्ट कर दिया गया था।