बिहार में ड्राइविंग टेस्टिंग ट्रैक बनाने के लिए इन 17 जिलों का हुआ चयन जानिए

0
242

बिहार में ड्राइविंग लाइसेंस के आवंटन हेतु ड्राइविंग टेस्ट की प्रक्रिया को स्मार्ट बनाने के उद्देश्य बिहार में हाईटेक ड्राइविंग टेस्टिंग ट्रैक के निर्माण को बिहार सरकार ने कुछ समय पहले मंजूरी प्रदान कर दी थी और अब इसी कड़ी में परिवहन विभाग में बड़ा कदम उठाते हुए बिहार के 17 जिलों में ड्राइविंग ट्रेक के निर्माण हेतु जमीन को चिन्हित कर लिया है। बताया जा रहा है कि इस प्रक्रिया के बाद टेस्टिंग ट्रैक बनाने की कवायद भी शुरू की जा सकती है। इस संबंध में परिवहन विभाग के सचिव संजय अग्रवाल ने इस परियोजना की समीक्षा की तथा इन 17 जिलों में ट्रैक बनाने के लिए जमीन को मंजूरी प्रदान कर दी गई।

बिहार के इन जिलों में ड्राइविंग टेस्टिंग ट्रैक बनाने को मिली मंजूरी जानकारी के अनुसार, परिवहन विभाग ने ड्राइविंग टेस्टिंग ट्रैक बनाने के लिए बिहार के सीतामढ़ी, मोतीहारी, किशनगंज, मधुबनी, पूर्णिया, नालंदा, कटिहार, कैमूर, सारण, बांका, बेतिया, भागलपुर, भोजपुर, दरभंगा, जहानाबाद, नवादा, मधेपुरा में जमीन चिन्हित करते हुए मंजूरी दे दी हैं। इसके साथ साथ इन जिलों में 50-75 लाख रुपये तक का आवटन भी कर दिया गया हैं। वही बचे जिलों के डीएम को निर्देश दिया गया है कि जल्द से जल्द जमीन चिन्हित कर विभाग को रिपोर्ट सौंपे जिसके बाद अन्य जिलों में भी यह कार्य शुरू कर दिया जाएगा।

इस संबध में सचिव संजय अग्रवाल ने कहा कि सभी जिलों में ड्राइविंग लाइसेंस जारी करने के लिए चालन दक्षता जांच के लिए ड्राइविंग टेस्टिंग ट्रैक का निर्माण किया जाना है। जिसके बाद सड़क दुर्घटनाओं में अधिक कमी आ सकें। बता दे की इस समय पटना एवं औरंगाबाद में ऑटोमेटेड ड्राइविंग टेस्टिंग ट्रैक पर गाड़ी चालकों की जांच हो रही है।