इस बार पटना के साथ-साथ बिहार के इन जिलों में पटाखों की बिक्री रहेगी रोक, NGT ने दिया आदेश

0
417

बिहार में दिवाली का त्यौहार आने वाला है। जहां दिवाली के त्यौहार को देखते हुए लोगों के घरों में साफ-सफाई होना शुरू हो गया है। वहीं बाजारों की भी रौनक बढ़ने लगी है। लेकिन इसी बीच पटाखा बेचने वालों तथा पटाखे से संबंधित व्यापार करने वालों के लिए एक बड़ी खबर सामने आई है। जानकारी के अनुसार बिहार में वायु प्रदूषण को देखते हुए नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल ने इस बार बिहार के कई जिलों में पटाखों की बिक्री पर प्रतिबंध लगा दिया है। मिली जानकारी के अनुसार इस संबंध में सभी जिलों के आला अधिकारियों को पत्र के माध्यम से सूचना प्रदान की जा चुकी है।

जानिए बिहार के किन जिलों में पटाखों की बिक्री पर रहेगा बैन बिहार राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने सभी डीएम और एससपी को पत्र लिखकर निर्देश दिया है। बता दें कि पिछले वर्ष दिवाली के अवसर पर बिहार के कई जिलों में वायु प्रदूषण का स्तर मानक से ऊपर बढ़ गया था जिसके बाद यह बड़ा निर्णय लिया गया है। जिसके बाद मुजफ्फरपुर, पटना, गया व हाजीपुर जिलों में पटाखों की बिक्री पर प्रतिबंध लगा दिया है और इन जिलों में पटाखा बेचते पाए जाने पर उचित कार्रवाई की जाएगी। वही बिहार के इन जिलों में पटाखा बेचने के लिए लाइसेंस जानी नहीं करेगा और पुराने लाइसेंस को भी रद्द कर दिया जाएगा।

इको फ्रेंडली पटाखे फोड़ने की होगी अनुमति जानकारी के अनुसार बिहार के इन 4 जिलों में इको फ्रेंडली पटाखे जलाने की अनुमति होगी और इसके लिए समय का निर्धारण कर दिया गया है। एनजीटी ने अपने आदेश में कहा है कि दीपावली के दिन रात 8:00 से 10:00 के बीच लोग पटाखे जला सकते हैं। वही छठ महापर्व में सुबह 6:00 बजे से सुबह 8:00 बजे तक, क्रिसमस और न्यू ईयर में रात 11:55 बजे से 12:30 बजे से इको फ्रेंडली पटाखे जलाने की अनुमति होगी।