जानिए कौन से हैं बिहार के वह बड़े प्रोजेक्ट, जो बिहार को करेंगे देश में सबसे आगे ले जायेगा 

0
392

वर्तमान समय में केंद्र सरकार और राज्य सरकार के संयुक्त प्रयासों के द्वारा बिहार के प्रशासनिक तथा आर्थिक विकास में काफी समय दिया जा रहा है जिसके बाद बिहार आज आधुनिक राज्य बनने की कवायद में लगा हुआ है। वैसे मैं आज हम आपको बिहार के उन बड़े प्रोजेक्ट के बारे में बताने जा रहे हैं जिनका निर्माण हो जाने के बाद बिहार भारत के बड़े राज्यों में से एक बन कर सामने आएगा।

मोकामा 6 लेन गंगा पुल

बिहार की राजधानी पटना को बेगूसराय से जोड़ने वाले मोकामा के राजेंद्र सेतु के समानांतर बन रहे छह लेन पुल का निर्माण कार्य अगले वित्तीय वर्ष में पूरा होने की संभावना है। हालांकि पुल के दक्षिणी हिस्से में बनने एप्रोच रोड के निर्माण की तकनीक का पेच अब तक फंसा हुआ है। इस समस्या के समाधान के लिए इसी वर्ष जून में एक उच्च स्तरीय बैठक भी हुई थी। निर्माण में तकनीकी तौर पर बदलाव होने से लागत पर क्या असर होगा इस संबंध में चर्चा हुई थी। निर्माण एजेंसी को बुलाया गया था। वैसे में यह माना जा रहा हैं की यह परियोजना अगले साल तक तैयार हो जाएगी।

Demo Pic

भेजा से बकोर ब्रिज

बता दें कि यह बिहार सरकार द्वारा बनाए गए बेहतरीन प्रोजेक्ट में से एक है। यह ब्रिज सुपौल जिले को मधुबनी जिले से जोड़ने का काम करेगा। बता दें कि इस ब्रिज को बिहार के शौक कहे जाने वाले कोसी नदी पर बनाया जा रहा है। जब यह ब्रिज बनकर तैयार हो जाएगा तो यह देश का लंबा ब्रिज बन कर सामने आएगा जिसके बाद बिहार के विकास में चार चांद लग जाएंगे। इस ब्रिज की लंबाई 11 किलोमीटर बताई जा रही है जो कि अपने आप में बिहार के विकास में एक बड़ा योगदान देने का काम करेगा।

गांधी सेतु पुल का सुपर स्ट्रक्चर

हमारी इस लिस्ट में पहले नंबर पर है उत्तर बिहार को दक्षिण बिहार से जोड़ने वाला गांधी सेतु इसे बिहार का लाइफ लाइन कहा जाता है। बता दें कि बिहार में गांधी सेतु ही एक ऐसा पुल है जिसके सुपरस्ट्रक्चर को तोड़कर फिर से एक बार इसका निर्माण किया जा रहा है। इस पुल के पश्चिमी सुपरस्ट्रक्चर को तोड़कर वहां एक नया सुपरहिट पिक्चर बनाया जा रहा है जिसका के काम बहुत जल्द पूर्ण हो जाएगा। इसके पश्चिमी लेन पर गाड़ियों का परिचालन शुरू हो चुका है और माना जा रहा है कि जल्द ही इसके बाकी बचे कार्यों को भी पूरा कर लिया जाएगा। बताया जा रहा है कि इस परियोजना के पूर्ण हो जाने के बाद गांधी सेतु के दोनों लेंफर्ड वाहनों का परिचालन होने लगेगा।

कच्ची दरगाह-बिदुपुर 6 लेन ब्रिज

गंगा में बन रहे कच्ची दरगाह-बिदुपुर सिक्स लेन ब्रिज की अबतक की निर्माण गाथा अद‌्भुत है। इसका शिलान्यास अगस्त, 2015 और कार्यारंभ फरवरी, 2016 में किया गया। लेकिन, असल निर्माण जनवरी, 2017 में शुरू हुआ। बिहार राज्य पथ विकास निगम ने निर्माण एजेंसी देवू-एलएंडटी के साथ जो करार किया उसके मुताबिक 16 जनवरी, 2017 से 15 जनवरी, 2021 यानी 4 साल में निर्माण कार्य पूरा करना है। 3115 करोड़ के इस प्रोजेक्ट में 50 करोड़ रुपए खर्च कर 15 फीसदी निर्माण हो पाया है।