बिहार के इन जिलों में हो रही है सेव की खेती, होने वाले मुनाफे को जानकर चौंक जाएंगे आप

0
510

जब भी हमारे मन में सेब की खेती का विचार आता है तो हमारे मन में केवल और केवल ठंडे प्रदेशों का खयाल सामने आता है। बता दें कि सेब की खेती अक्सर ठंडे प्रदेशों जैसे हिमाचल प्रदेश और जम्मू कश्मीर जैसे क्षेत्रों में की जाती है। लेकिन अगर आप से कहा जाए कि बिहार में भी सेव की खेती हो रही है, तो आप चौक जायेंगे। जी हां बिहार का एक  जिले में भी सेव की खेती कर वहां के किसान लाखों कमा रहे हैं जो आज अन्य किसानों के लिए मिसाल बना हुआ है।

दरअसल बिहार के एक जिले बेगूसराय में नई तकनीक के द्वारा सेब की खेती की जा रही है। जहां एक और यहां के आसपास के इलाकों में चर्चा का विषय है वही इस खेती के द्वारा किसान लाखों रुपए तक कमा रहे हैं। जानकारी के अनुसार, बेगूसराय में एक किसान ने यह पहल शुरू की है जिनकी पढ़ाई-लिखाई बीएससी (एग्रीकल्चर) तक हुई है। इनके खेतों में अभी पौधे नए हैं और महज साल भर के हैं। ये पौधे एक बरस बाद फल भी देने लगेंगे। सेब की खेती ठंडे प्रदेशों में होती है लेकिन बिहार में इसे 40-45 डिग्री के तापमान पर उगाया जा रहा है।

इस अनोखी तकनीक से खेती करने वाले किसान का नाम अमित कुमार है। बता दें कि अमित कुमार ने एक खास किस्म का पौधा तैयार किया है जिसका नाम हरमन 99 है। इस पौधे की खेती बेगूसराय के साथ-साथ बिहार के औरंगाबाद जिले में भी की जा रही है। बताया जा रहा है कि यह पौधा सेब का फल देता है और इस पौधे की सबसे खास बात यह है कि यह भारत के सबसे गर्म प्रदेशों में से माने जाने वाले एक जगह राजस्थान में तैयार किया जाता है।

जानकारी के अनुसार अमित कुमार ने 4 कट्ठा जमीन में 86 के आसपास पौधे लगाए हैं। वे इस खेती को 1 एकड़ तक बढ़ाने की कोशिश कर रहे हैं। बेगूसराय के उनके खेत में पैदा होने वाला सेब उसी टेस्ट, कलर और साइज का होगा जो हिमाचल और जम्मू-कश्मीर में होता है। इस अनोखी तकनीक वाले पौधे को लगाने के लिए इसे लगाने से पहले लगाने से पहले गड्ढा खोदा जाता है उसे रोगनाशक दवा से उपचारित किया जाता है ताकि कई बीमारी न लगे। पौधे को कर्बेंडाजाइम में उपचारित करके लगाया जाता है।

इस विषय पर अमित बताते हैं कि सेब की खेती में सबसे कम खर्च है, सिर्फ समय पर सिंचाई की जरूरत होती है। हरमन-99 वेरायटी बिल्कुल वैसा ही सेब का फल देता है जैसा कि हिमाचल प्रदेश और जम्मू कश्मीर जैसे ठंडे इलाकों में होती है। कमाई की बात की जाए तो अमित बताते हैं कि अगर 1 साल में फसल बड़ा बड़ा फल देने लगे तो एक किसान 1 साल के अंदर सेव की खेती कर 14 से 15 लाखों रुपए तक कमा सकता है।