बिहार के लाल ने किया कमाल, मल्टीनेशनल कंपनी इंडिया के वाइस प्रेसिडेंट बने सुप्रभात

0
720

भारत के लोगों का दुनिया की बड़ी से बड़ी मल्टीनेशनल कंपनी में जलवा देखने को मिलता है। जहां एक और दुनिया की सबसे बड़ी कंपनी गूगल जो आज किसी के पहचान का मोहताज नहीं है। उसके सीईओ भारत के ही सुंदर पिचाई हैं वहीं बिहार के एक लाल ने भी गूगल की एक ब्रांच गूगल इंडिया कंपनी का वाइस प्रेसिडेंट बनकर इतिहास रच दिया है। इसके साथ-साथ आज उनका नाम बिहार के साथ-साथ पूरे भारत में प्रसिद्ध हो चुका है। दरअसल बिहार के दरभंगा के सुप्रभात गूगल इंडिया के वाइस प्रेसिडेंट बन गए हैं।

जानकारी के अनुसार 28 अगस्त को सुप्रभात ने हरियाणा के गुड़गांव स्थित गूगल ऑफिस में 28 अगस्त को इंटरव्यू दिया था। जिन के बाद उनका चयन गूगल इंडिया के वाइस प्रेसिडेंट के पद के लिए किया गया है। उनके इस बड़े कारनामे के बाद अमेरिका की तीन बड़ी यूनिवर्सिटी ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी, हावर्ड यूनिवर्सिटी, स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी ने सुप्रभात को छात्रवृत्ति देते हुए वेतन देने की भी घोषणा की है लेकिन सुप्रभात अपने देश के लिए काम करना चाहते हैं।

बिहार के दरभंगा जिले से आने वाले सुप्रभात बचपन से ही एक मेधावी छात्र बताए जाते हैं। सुप्रभात के पिता राजेंद्र मिश्र दरभंगा के एक प्रोफेसर है। वह अभी वर्तमान समय में दरभंगा के एक कॉलेज में प्रोफेसर के पद पर कार्यरत है। और अपनी सेवा दे रहे हैं। सुप्रभात की प्रारंभिक पढ़ाई सहरसा जिले से हुई। जब साल 2017 में सुप्रभात ने डीपीएस सहरसा से 12वीं की पढ़ाई अब उनके मन में एडवांस कंप्यूटर के प्रति रुचि जगी और उन्होंने कोलकाता के एडवांस यूनिवर्सिटी से इलेक्ट्रॉनिक ब्रांच में बैचलर ऑफ टेक्नीशियन की डिग्री हासिल की।

सुप्रभात शुरू से ही कंप्यूटर साइंस में रुचि रखने वाले एक प्रतिभावान छात्र रहे हैं। बचपन से ही वह साइबर सिक्योरिटी के साथ-साथ आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के बारे में सीखना चाह रहे थे। वर्तमान समय में साइबर सिक्योरिटी के माध्यम से भावी पीढ़ी के दिमाग को हैक करने की कला सुप्रभात के पास है। वह आगे चलकर भारत के लिए साइबर सिक्योरिटी के क्षेत्र में काम करने की इच्छा जताते हैं।