पिता रामविलास पासवान की बरसी के बाद पैतृक गांव पहुंचे चिराग, बड़ी मां राजकुमारी देवी से मिल भावुक हुए

0
531

बिहार की राजनीतिक पार्टी लोजपा के संस्थापक और बिहार के साथ-साथ देश के एक बड़े नेता स्वर्गीय रामविलास पासवान की प्रथम वर्ष पटना में मनाई गई। जहां रामविलास पासवान जी की बरसी राजनीतिक गलियारों में काफी चर्चाओं में रही थी वही उनकी बरसी के बाद उनके पुत्र चिराग पासवान रामविलास पासवान के पैतृक गांव खगड़िया स्थित पैतृक गांव शहरबन्नी पहुंचे। हां सबसे पहले चिराग पासवान ने अपने पिता रामविलास पासवान की चित्र पर माल्यार्पण कर उनसे आशीर्वाद लिया। आशीर्वाद लेने के बाद चिराग पासवान अपनी बड़ी मां और रामविलास पासवान जी की प्रथम पत्नी राजकुमारी देवी से मिले। राजकुमारी देवी से मिलने के दौरान चिराग पासवान भावुक हो गए और बड़ी मां राजकुमारी देवी ने उन्हें सीने से लगा कर आशीर्वाद दिया।

बता दें कि मां बेटे का सुखद मिलन देखकर वहां मौजूद सभी लोग भावुक हो गए थे। बताया जा रहा है कि बुधवार को चिराग पासवान के द्वारा स्वर्गीय नेता रामविलास पासवान के पैतृक गांव शहरबन्नी एक सामूहिक भोज का आयोजन किया गया था जिसमें 5000 से अधिक लोगों ने शिरकत की थी। बता दें कि इस व्यवस्था की पूरी देख रहे चिराग पासवान की बड़ी मां राजकुमारी देवी ने अपने हाथों में संभाली थी। पत्रकारों से बात करते हुए चिराग पासवान ने बताया कि वह अपनी बड़ी मां के गाने पर अपने पिता के पैतृक गांव में आए हैं।

उधर रामविलास पासवान के पैतृक गांव खगड़िया के शहरबन्नी मे हुए सामूहिक भोज में चिराग पासवान की बड़ी मां राजकुमारी देवी ने पूरे पंचायत को आमंत्रित किया था। बता दें कि रामविलास पासवान जी के पैतृक गांव में हुए सामूहिक भोज में चावल, दाल, सब्जी, तिलौरी-पापड़, दही, रसगुल्‍ला, मिठाई आदि की व्‍यवस्‍था की गई है। इसके साथ-साथ इसके भोज के दौरान रामविलास पासवान का एक चलचित्र भी लगाया गया था जिस पर खाने के बाद पंचायत के सभी लोगों ने फूल चढ़ाकर स्वर्गीय नेता रामविलास पासवान को अपनी ओर से श्रद्धांजलि अर्पित की थी।