बिहार में लोगो को मिलेगा बाढ़ से निजात शुरू हुआ बिहार में नदियों को जोड़ने का काम जानिए किन किन नदियों को जोड़ा जाना है 

0
596

बिहार में हर साल बाढ़ की समस्या अब एक आम समस्या बन चुकी है। बताया जाता है कि जब जब बिहार में बाढ़ आती है तब तक बिहार की सभी नदियों को आपस में जोड़ने का मुद्दा गर्म हो जाता है। इसी मामले पर बिहार सरकार ने बिहार के लोगों को बाढ़ की समस्या से निजात दिलाने के लिए बड़ी पहल की है। जानकारी के अनुसार बिहार में सीएम नीतीश कुमार के सरकार अब अपने खर्च पर पायलट प्रोजेक्ट के माध्यम से बिहार के उत्तर और दक्षिणी नदियों को जोड़ने की योजना बना रही है।

सबसे पहले इन नदियों को एक दूसरे से जोड़ा जायेगा बिहार सरकार ने नदियों को जोड़ने की योजना पर काम करना शुरू कर दिया है। बताया जा रहा है कि पायलट प्रोजेक्ट परियोजना के अंतर्गत उत्तर बिहार और दक्षिण बिहार की दो-दो नदियों को चुना गया है। बता दें कि दक्षिण बिहार में सकरी नाटा की फिजीबिलिटी रिपोर्ट तैयार की जा रही है. उत्तर बिहार में बूढ़ी गंडक, बागमती और नून नदी को जोड़ने पर काम चल रहा है, अगर बिहार में पायलट प्रोजेक्ट परियोजना सफल रही तो आने वाले समय में बिहार की अन्य नदियों को भी इस परियोजना के माध्यम से एक दूसरे से जोड़ा जाएगा। इसके साथ-साथ बताया जा रहा है कि इस योजना के अंतर्गत बिहार के 4 जिले किशनगंज, पूर्णिया, कटिहार, अररिया को मदद मिलेगी।