1 अगस्त से देश होने वाले हैं यह बड़े बदलाव, यह सेवाएं अब हो जाएंगी महंगी, जानिए आप पर क्या पड़ेगा इसका असर 

0
606

भारत में आज से अगस्त के महीने की शुरुआत हो चुकी है। अगस्त के महीने के शुरू होने के साथ-साथ भारत में आज से कई सेवाएं महंगी हो जाएंगी। जानकारी के अनुसार कुछ सेवाओं में बदलाव भी किया जाएगा जिसके बाद इसका असर आपकी जेब पर पड़ने वाला है। मिली जानकारी के अनुसार कुछ सेवाओं में बदलाव होने के बाद से वह पहले की तुलना में और भी अधिक महंगी हो जाएंगी।

जानिए किन किन सेवाओं में होगा बदलाव और आप पर क्या पड़ेगा इसका आसार बता दें कि अगस्त की 1 तारीख से घरेलू रसोई गैस सिलेंडर की कीमतों में बदलाव हो जाएगा। जानकारी के अनुसार हर महीने की 1 तारीख को घरेलू सिलेंडर की कीमतों में बदलाव किया जाता है। जहां मई और जून में सिलेंडर में कोई बदलाव नहीं किया गया था। इसके पूर्व अप्रैल में एलपीजी के दाम में ₹10 की कमी की गई थी। जानकारी के अनुसार अगस्त में आपकी रसोई गैस का सिलेंडर ₹25 महंगा हो जाएगा।

जानकारी के अनुसार 1 अगस्त के बाद से राष्ट्रीय स्वचालित निपटान की व्यवस्था सप्ताह के के सातों दिन उपलब्ध होगी। इसके पूर्व यह सुविधा बैंकों के कामकाजी दिनों में ही उपलब्ध होती थी। जिसके बाद आप सप्ताह की छुट्टी के दिन भी आपका वेतन आपके खाते में आएगा

बीते 1 अगस्त से एक लाख से अधिक सेल्फ असेस्मेंट बकाया होने पर उसको चुकाने में देरी पर जुर्माना देना होगा अगर आपका खाता आईसीआईसीआई बैंक में है तो आपको आईसीआईसीआई बैंक होम ब्रांच से महीने में एक लाख रुपये नकद निकासी के बाद प्रति लेनदेन न्यूनतम 150 रुपये का शुल्क देना होगा यह शुल्क प्रति एक हजार पांच रुपये होगी।

1 अगस्त से एटीएम से पैसे निकालने के बाद हम आपको पहले की तुलना में ज्यादा शुल्क देना पड़ सकता है। जानकारी के अनुसार अब एटीएम से पैसे निकालने का शुल्क 15 रुपए की जगह 17 रुपए हो जाएगा।

जानकारी के अनुसार 1 अगस्त के बाद से भारतीय डाक विभाग अपनी इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक के ग्राहकों से बैंकिंग शुल्क लेने जा रहा है। बता दें कि यह शुल्क एक सेवा पर 20 रुपए रहेगा। इसके साथ साथ डाक विभाग अपने ग्राहकों से जीएसटी शुल्क भी वसूल करेगा.

जानकारी के अनुसार अगर आप भी शेयर मार्केट में निवेश करते हैं तो 1 अगस्त के बाद से आपके डीमैट खाते में भी बड़ा बदलाव किया गया है। जानकारी के अनुसार रेडीमेड खाते में केवाईसी पूर्ण होने के कारणों से कई शेयर बाजार निवेशकों का खाता बंद किया जा चुका है। केवाईसी अपडेट करने की अंतिम तिथि 31 जुलाई थी। बता दें कि शेयर बाजार की कंपनियां अपने कस्टमर्स को ईमेल के माध्यम से खाता बंद करने की सूचना दे रही है।