बिहार सरकार ने लागू किया नया जमीन कानून, अब नही होगी जमीन बँटवारे की समस्या जानिए कैसे 

0
1077

बिहार सरकार ने बिहार के ग्रामीण क्षेत्रों में जमीन विवाद और बंटवारे से संबंधित समस्याओं के समाधान के लिए एक बड़ी पहल की है. बता दें कि बिहार सरकार ने नई भूमि कानून को लागू किया है जिसके बाद बंटवारे के समय होने वाले जनरेटर से हमें राहत मिलेगी. और जमीन के मालिक को उसका मालिकाना हक भी मिल सकेगा. बता दें कि बिहार सरकार ने परिवार में होने वाले बंटवारे के लिए एक नया कानून को तैयार किया है जिसके अनुसार बिहार में अब घर का मुखिया अब 100 रू के स्टांप पेपर के द्वारा संपत्ति का बंटवारा परिवार के सदस्यों में कर सकता है।

मिली जानकारी के अनुसार सरकार ने 2018 में बनाए गए जमीन कानून मैं संशोधन के द्वारा इसे और भी सुलभ और आसान बना दिया है. बताया जाता है कि अब इस कानून के द्वारा दजमीन का बंटवारा किया जा सकता हैं. इसके साथ-साथ क्या कानून जिला निबंधन कार्यालय में भी मान्य रहेगा।

जानिए कैसे काम करेगा यह नया कानून जानकारी के अनुसार घर का मुखिया अगर अपने घर में बटवारा करना चाहता है तो वह अपने घर की चौहद्दी बनाकर किसी भी पदाधिकारी या जनप्रतिनिधि के सामने ₹100 के स्टांप पेपर पर बंटवारा कर सकता है. इसके साथ ही अगर आगे चलकर विवाद हुआ तो जिस जनप्रतिनिधि के सामने स्टांप पेपर बनाया गया था उसका फैसला अंतिम फैसला माना जाएगा. बाद में इसकी सूचना जिला निबंधन कार्यालय को दी जाएगी और सारी कानूनी कार्रवाई को पूरा कर लिया जाएगा इस कानून के बारे में जानकारी देते हुए जिला निबंधन पदाधिकारी रिंकी कुमारी ने बताया कि सरकार के द्वारा इस प्रयास के आने के बाद घरों में बंटवारे को लेकर होने वाली समस्याओं में काफी कमी आई है।

जानिए बंटवारे की संपत्ति पर किन-किन लोगों का होगा मालिकाना हक जानकारी के अनुसार इस कानून में लड़का और लड़की दोनों को समान अधिकार देने का प्रावधान है. यह प्रावधान इस कानून के साथ-साथ मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड में भी हमें दिखाई पड़ता है. इसके साथ ही इस कानून में अंतिम अधिकार जमीन के मालिकाना हक रखने वाले व्यक्ति को दिया गया है वह जिसे चाहे उसको अपनी संपत्ति के बंटवारे में हिस्सेदार बना सकता है यह पुत्र एवं पुत्री दोनों पर समान रूप से लागू होता है।