बिहार के इन रेलवे स्टेशनों को बनाया जाएगा वर्ल्ड क्लास, एयरपोर्ट जैसा मिलेगा सुविधा जानिए क्या-क्या मिलेंगी सुविधाएं

0
447
काल्पनिक तस्वीर

भारतीय रेलवे इन दिनों बिहार के रेलवे स्टेशनों का आधुनिकीकरण करने में लगा हुआ है जानकारी के अनुसार भारतीय रेलवे की परियोजना में बिहार के कई रेलवे स्टेशनों को हाईटेक बनाने की योजना है. इन रेलवे स्टेशनों पर एयरपोर्ट जैसी सुविधाएं होंगी और यह यात्रियों का ध्यान अपनी ओर खींचेगा. इसी कड़ी में खबर है कि भारतीय रेलवे की परियोजना के अंतर्गत बिहार के तीन स्टेशनों को आने वाले समय में हाईटेक स्टेशन के रूप में डेवेलोप किया जाएंगे. बता दें कि इसके पूर्व भी बिहार के पांच अन्य रेलवे स्टेशनों को हाईटेक बनाने के लिए चयन किया गया है।

बिहार के इन तीन और रेलवे स्टेशन को हाई टेक बनाया जाएगा  जानकारी के अनुसार भारतीय रेलवे की पुनर्विकास योजना के अंतर्गत सीतामढ़ी, बरौनी, दरभंगा समेत पूर्व मध्य रेल के पांच स्टेशन को विश्वस्तरीय बनाया जाएगा. बता दें कि बिहार के तीन स्टेशनों के साथ-साथ झारखंड का धनबाद स्टेशन और उत्तर प्रदेश का पंडित दीनदयाल उपाध्याय रेलवे स्टेशनों को भी वर्ल्ड क्लास बनाने की योजना है. यह जानकारी पूर्व मध्य रेलवे के अधिकारी राजेश कुमार ने दी है।

उन्होंने बताया कि परियोजना के पूर्ण हो जाने के बाद यह रेलवे स्टेशन विश्वस्तरीय सुविधाओं से लैस हो जाएंगे. बता दें कि इसके पूर्व से भारतीय रेलवे के द्वारा गया स्टेशन और पटना के राजेंद्र नगर टर्मिनल स्टेशन को हाईटेक बनाने की योजना चलाई जा रही है. मिली जानकारी के अनुसार स्टेशनों के पुनर्विकास और हाईटेक बनाने का कार्य भारतीय रेलवे के रेल भूमि विकास प्राधिकरण द्वारा किया जाना है।

जाने इन हाईटेक स्टेशनों पर क्या-क्या होंगी सुविधाएं भारतीय रेलवे के द्वारा रेलवे स्टेशनों के पुनर्विकास के बाद यह रेलवे स्टेशन विश्वस्तरीय और हाईटेक सुविधाओं से लैस हो जाएगा. बात करें सुविधाओं की तो स्टेशन पर भीड़ भाड़ को नियंत्रण करने के लिए अलग-अलग आगमन और प्रस्थान द्वार बनाए जाएंगे. स्टेशन पर लिफ्ट और एस्केलेटर की सुविधा होगी यह सुविधा प्रत्येक प्लेटफार्म पर बनाई जाएगी. इसके साथ साथ रेलवे प्लेटफार्म पर आने वाले यात्रियों के लिए खान-पान, वॉशरूम, पीने का पानी, एटीएम, इंटरनेट सुविधाओं को प्रदान किया जाएगा. इसके साथ साथ रेलवे स्टेशनों को बुजुर्गों और वरिष्ठ नागरिकों की सुविधा के लिए खास तौर पर तैयार किया जा रहा है।