आज है सावन महीने की पहली सोमवारी, जानिए भगवान शिव की सम्पूर्ण पूजा सामग्री और भगवान शिव के प्रिय मंत्र के बारे में

0
353

भारत में सावन के पावन महीने की शुरुवात हो चुकी हैं. माना जाता हैं की यह महिना भगवान शिव को काफी प्रिय हैं और जो भी इस महीने में भगवान शिव की पूजा करता हैं उनको सभी प्रकार की सुख शांति की प्राप्ति होती हैं. इसी कड़ी में आज सावन का पहला सोमवार हैं. जानकारी के अनुसार, सावन के पहले सोमवार की हिंदू धर्म में बहुत अधिक मान्यता बताई जाती हैं. इसके साथ साथ इस दिन भगवान शिव की विधि-विधान से पूजा अर्चना की जाती है. बता दे की आज सुबह से शिव मंदिरों में लोगो की भीड़ दिखाई दे रहा हैं.

बता दे की आज अविवाहित लोग भगवान शिव की पूजा अपने लिए एक योग्य जीवनसाथी की प्राप्ति के लिए करते हैं. लेकिन क्या आप भगवान शिव के सावन सोमवार व्रत की पूजा सामग्री और भगवान शिव का मंत्र में जानते हैं अगर नही तो आज हम आपको इसके बारे जानकारी देने वाले हैं.

बता दे की आज के दिन भक्त भगवान के शिवलिंग पर दूध, जल और बेलपत्र चढ़ाते हैं. ऐसा करने से यह कहा जाता हैं कि वैसे लोगों पर भगवान शिव और मां पार्वती का आशीर्वाद बना रहता है. पूजा सामग्री की बात करे तो सावन के पहले सोमवार में की पूजा के लिए फूल,पंच फल पंच मेवा, रत्न, सोना, चांदी, दक्षिणा, पूजा के बर्तन, कुशासन, दही, शुद्ध देशी घी, शहद, गंगा जल, पवित्र जल, पंच रस, इत्र, गंध रोली, मौली जनेऊ, पंच मिष्ठान्न, बिल्वपत्र, धतूरा, भांग, बेर, आम्र मंजरी, जौ की बालें,तुलसी दल, मंदार पुष्प, गाय का कच्चा दूध, ईख का रस, कपूर, धूप, दीप, रूई, मलयागिरी, चंदन का प्रयोग किया जाता हैं.

इसके साथ ही यह मान्यता भी हैं की इस दिन भगवान शिव के अतिप्रिय मंत्र महामृत्युञ्जय मन्त्र का जाप करने से भक्तों को मृत्यु और भय से छुटकारा प्राप्त होता है. इसके साथ ही इसका जाप करने वाला दीर्घायु रहता हैं.

तो अगर आप भी आज के दिन भगवान शिव को अपनी भक्ति के द्वरा प्रस्सन करना चाहते हैं तो आप भी भगवान शिव को इन पूजा सामग्री और इस अतिप्रिय मंत्र महामृत्युञ्जय मन्त्र का जाप करके खुश कर सकते हैं.