बिहार की बेटी का कमाल, विश्व बैडमिंटन रैंकिंग के टॉप 200 में जाने वाली अंजना बनी बिहार की पहली खिलाड़ी

0
677

बिहार की महिला खिलाडी आज पुरे देश और दुनिया में बिहार का नाम रौशन कर रही हैं जहां बिहार में सुविधा का आभाव होता हैं वही बिहार के समाज आज भी लड़की का खेल खेलना यहां के समाज के लिए काफी मुश्किल की बात मानी जाती हैं वैसे में इन सभी लोगों के लिए बिहार की अंजना कुमारी की सफलता उन सभी के मुँह पर एक जोरदार तमाचा हैं बिहार की एक महिला खिलाडी ने विश्व बैडमिंटन रैंकिंग में 199वां स्थान पाकर बिहार के साथ साथ पुरे देश का नाम रौशन किया हैं इसके साथ ही बता दे की बैडमिंटन में टॉप 200 रैंकिंग में पहुंचने वाली वह बिहार की पहली खिलाड़ी बन गई हैं।

जानकारी के अनुसार, अंजना कुमारी बिहार के औरंगाबाद के दाउदनगर की रहने वाली हैं अंजना ने 2012 में 12 वर्ष की उम्र में बैडमिंटन में अपने करियर की शुरुआत की थी बता दे की अपने प्रदर्शन से दो वर्ष के अन्दर ही उन्होंने सफलता को पाना शुरू कर दिया था बता दे की साल 2015 से वह गोवा में अलग-अलग कैटेगरी में नंबर एक खिलाड़ी हैं अंजना के पिता कौशलेंद्र कुमार गोवा के कस्टम कार्यालय में नौकरी करते हैं जानकारी के अनुसार, बिहार की अंजना कुमारी बिहार से पूर्व गोवा राज्य का प्रतिनिधित्व करती थी।

दुनिया की टॉप लिस्ट में हुई शामिल बता दे की अंजना ने अंतरराष्ट्रीय सर्किट में अक्तूबर, 2019 से भाग लेना शुरू किया और कुछ ही प्रतियोगिताओं में भाग लेकर वह विश्व की श्रेष्ठ 250 खिलाड़ियों की सूची में शामिल हो गयी जिसके बाद उन्होंने कभी पीछे मुड़कर नही देखा बता दे की अंजना विश्व बैडमिंटन की रैंकिंग में टॉप 25 पर भी पहुची. यह उनके लिए सम्मान की बात हैं क्युकी इस लिस्ट में दुनिया पूर्व नंबर एक खिलाड़ी और ओलिंपिक की कांस्य पदक विजेता साइना नेहवाल और ओलिंपिक रजत पदक जितने वाली पीवी सिंधु भी शामिल हैं।

बिहार की पहली खिलाड़ी बनी  अभी वर्तमान में राष्ट्रीय स्तर पर अंजना 48वें स्थान पर हैं. इस रैंकिंग तक अब तक कोई भी बिहार की खिलाड़ी नहीं पहुंच सकी है जो की उनके लिए बड़े ही सम्मान की बात हैं इसके साथ ही आपको बता दे की अंजना को अपना पहला मेडल 2015 में केरल में हुए नेशनल गेम्स मिला था. जानकारी के अनुसार, इस प्रतियोगिता में अंजना ने कांस्य पदक अपने नाम किया था. आज वह बिहार की सभी खेल से जुड़े लोगों के लिए आदर्श बन चुकी हैं।