बिहार के इस ज़िला में पहला पेप्सी फैक्ट्री का निर्माण शुरू, हर जिले में लगाए जाएंगे उधोग

0
1010
काल्पनिक तस्वीर

बिहार के नए उद्योग मंत्री शाहनवाज हुसैन के पदभार संभालने के बाद और बिहार में नए एथनॉल पॉलिसी आने के बाद मानो बिहार में इन्वेस्टर की बाढ़ सी आ गई है और लगातार बिहार में नई कंपनी अपनी फैक्ट्री लगाने को लेकर रुचि दिखा रही है इसी बीच अब बिहार में पेप्सी का पहला बॉटलिंग प्लांट का निर्माण भी प्रारंभ कर दिया गया है वही अब बिहार के हर जिले में उद्योग के लिए प्रयास किए जा रहे हैं सरकार वन डिस्टिक वन प्रोडक्ट के फार्मूले पर भी बारीकी से काम करने लगी है जल्दी इसका भी काम जमीनी स्तर पर दिखने लगेगा।

बेगूसराय में शुरू हुआ पेप्सी का पहला बॉटलिंग प्लांट का निर्माण बिहार के बेगूसराय में पहला बॉटलिंग प्लांट का निर्माण कार्य शुरू कर दिया गया है बेगूसराय में इस बॉटलिंग प्लांट का निर्माण करीब करीब 55 एकड़ जमीन पर 550 करोड़ की लागत से पेप्सी कंपनी द्वारा इसे बनाने की प्रक्रिया शुरू कर दी है इसका निर्माण कार्य जोरों शोरों पर है बॉटलिंग प्लांट का निर्माण कार्य बरौनी प्रखंड के उत्क्रमित माध्यमिक विद्यालय के समीप किया जा रहा है मिली जानकारी के अनुसार ऐसा अनुमान है कि इस प्लांट के लगने से स्थानीय 1500 लोगों के लिए रोजगार के अवसर पैदा होंगे यह फैक्ट्री इतना शानदार और बेहतर होगा कि यहां पर 1 मिनट में 800 बोतल तैयार होकर पीने के लिए सील पैक कर दिए जाएंगे।

बन रहे पेप्सी फैक्ट्री की तस्वीर

नालंदा में 528 करोड का निवेश का प्रस्ताव खबरों के अनुसार बताया जा रहा है कि नालंदा में 528 करोड का निवेश का प्रस्ताव आ चुका है जिसमें 428 करोड़ रुपए सिर्फ इतना एथनॉल सेक्टर से जुड़ा हुआ है वही बाकी फूड प्रोसेसिंग और टेक्सटाइल सेक्टर से जुड़ा हुआ है आपको बता दूं कि राजधानी पटना से नजदीक होने के कारण नालंदा में उद्योग के अपार संभावना है रविवार को उद्योग मंत्री शहनवाज हुसैन नालंदा में एक यूपीवीसी मैन्युफैक्चरिंग यूनिट का उद्घाटन के बाद यह बात कही उन्होंने कहा कि सरकार युवाओं में उधमिता करने के कई अच्छी योजना लाई है मुख्यमंत्री उद्यमी योजना से युवाओं को स्थान मिलेगा तो बिहार की औद्योगिक प्रोत्साहन नीति निवेश को तेजी से बढ़ावा दे रही है।