बिहार में 6 कंपनियों को मिली जमीन 3000 करोड़ का होगा निवेश इन जिलों में लगेगा फैक्ट्री

0
1044

बिहार में रोजगार को लेकर लगातार उद्योग लगाने की मांग किए जा रहे हैं इसी बीच बिहार के उद्योग मंत्री शाहनवाज हुसैन की कोशिश के बाद बिहार में लगातार निवेशक आ रहे हैं अब तक बिहार में 6199 करोड़ का निवेश का प्रस्ताव आ चुका है अब लोगों में यह आस जग गई है कि बिहार में भी फैक्ट्री लगना शुरू हो जाएगी इसी बीच अब बिहार में 6 कंपनियों के जमीन को मंजूरी मिल चुकी है जिसमें करीब करीब 3071 करो रुपए का निवेश होगी इससे उत्साहित उद्योग विभाग में राज्य निवेश प्रोत्साहन पार्षद से मंजूर प्रस्ताव पर तेजी से काम शुरू कर दिया है विभाग के फोकस में एथनॉल उत्पादन करने वाली निवेश प्रस्ताव है इसका अंदाजा इससे लगाया जा सकता है कि 28 मई 2021 को एसआईटी ने जिस एथनॉल उत्पादन वाले प्रस्ताव को मंजूरी दी थी वियाडा ने उन 6 कंपनियों को जमीन आवंटित कर दिया गया है।

इन जिलों में आवंटित किए गए जमीन लगेगा उद्योग बिहार में करीब 6 कंपनियों को 3071 करोड़ के निवेश के लिए जमीन आवंटित कर दिए गए हैं इसमें एथनॉल सेक्टर में सबसे बड़ा निवेश जिंदल ग्रुप करने जा रहा है जिंदल समूह की कंपनी जेएसडब्ल्यू सुपौल में करीब 500 केएलपीडी उत्पादन क्षमता की फैक्ट्री लगाने वाली है इसको लेकर 50 एकड़ जमीन आवंटित किए गए हैं इसके अलावा मुजफ्फरपुर के मोतीपुर औद्योगिक क्षेत्र में माइक्रोमैक्स को 30 एकड़ जमीन आवंटित की गई है जहां पर करीब 240 करोड़ का निवेश होगा इधर शाहनवाज हुसैन ने कहा कि उद्योग विभाग निवेशकों को हर संभव सहायता करने को 24 घंटे तैयार है इथेनॉल के क्षेत्र में निवेश करने वाले निवेशकों को 7 दिन के अंदर बियाड़ा जमीन आवंटित करेगा।

बिहार के प्रमंडलओं में खुलेगा 5 मिनी फूड पार्क मिलेगा रोजगार उद्योग मंत्री ने एक और अहम जानकारी दी कि बिहार के मुजफ्फरपुर से मोतीपुर में 400 करोड़ के मेगा फूड पार्क की के बाद अब 5 मिनी फूड पार्क भी बिहार को मिलना तय हो गया है केंद्रीय कृषि और खाद्य प्रसंस्करण उद्योग मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने उनके मेगा फ़ूड पार्क के बाद बिहार को कम से कम 5 मिनी फूड पार्क मिलना तय हो गया है बिहार के विभिन्न प्रमंडलों के लिए प्रस्तावित प्रत्येक मिनी फूड पार्क में कम से कम 5 औधोगिक इकाई होगी।