बिहार के इन जिलों में इस साल 797 हाईवे और ब्रिज बनेंगे

0
532

बिहार में रोड इंफ्रास्ट्रक्चर में एक बड़ा बदलाव देखने के लिए मिला है लेकिन इन रोड इंफ्रास्ट्रक्चर के बनने से बिहार में इतनी तेज से विकास अभी नहीं हो पा रहा है इसी क्रम में बिहार सरकार इसी को ध्यान में रखते हुए इस साल के अंत तक करीब 797 किलोमीटर एनएच का टेंडर जारी करेगा जिससे कहीं न कहीं बिहार में रोड और भी बेहतर होगा लेकिन आपके मन में बड़ा सवाल यह होगा कि इन 797 किलोमीटर इमेज का टेंडर कौन-कौन से जिलों में शुरू किया जाएगा ।

बिहार में रोड इंफ्रास्ट्रक्चर को और भी बेहतर बनाने के लिए इस साल के अंत तक 797 किलोमीटर एनएस का टेंडर जारी किया जाएगा जो कहीं न कहीं बहुत बड़ा एक टेंडर होगा चालू वित्तीय वर्ष में भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण एनएचएआई बिहार में रिकॉर्ड संख्या में सड़क का टेंडर करेगी साथ ही टेंडर हुई सड़कों का निर्माण चालू वित्तीय वर्ष में शुरू भी कर दिया जाएगा बीते 31 मार्च को समाप्त हुए वित्तीय वर्ष में एनएसीआई 297 किलोमीटर सड़क का काम किया था इसका निर्माण शुरू कर दिया गया है अब सरकारी से आगे बढ़ना चाहती है और एनएचएआई 2021 से 2022 वित्तीय वर्ष में 797.49 किलोमीटर सड़क का काम शुरू करेगी।

इन जिलों में बनेंगे यह हाईवे आपको पता होगा कि बिहार के बहुत से हिस्से में हाईवे का निर्माण हो चुका है लेकिन अभी बिहार के बहुत सारे हिस्से इन एनएच से जुड़े हुए नहीं है इसी को देखते हुए बिहार सरकार अब बिहार के गोपालगंज में एलिवेटेड कॉरिडोर बनाएगी इसके साथ बेगूसराय में एलिवेटेड कॉरिडोर बनाने का फैसला लिया गया है इसके साथ औरंगाबाद सड़क को चौड़ीकरण किया जाएगा वहीं दानापुर से बिहटा के बीच एलिवेटेड रोड का निर्माण किया जाएगा वहीं शेखपुर से दिघवारा के बीच रोड का निर्माण किया जाएगा इसके साथ बख्तियारपुर से रजौली के बीच रोड का निर्माण किया जाएगा वहीं सिवान मसरख केसरिया होते हुए फोरलेन सड़क का निर्माण किया जाएगा इसके साथ औरंगाबाद से दरभंगा एक्सप्रेस वे का निर्माण किया जाएगा इसके अलावा पटना से आरा सासाराम के बीच फोरलेन सड़क का निर्माण किया जाएगा इसके साथ-साथ दाल वाली से मानिकपुर साहिबगंज अरेराज उमा गांव सहरसा चकिया बैरगनिया के बीच फोरलेन सड़क का निर्माण किया जाएगा।

आपको बता दूं कि इन एलिवेटेड रोड और सड़कों के निर्माण के लिए केंद्र सरकार ने राज्य सरकार से जल्द से जल्द जमीन अधिग्रहण करने को कहा है जमीन अधिग्रहण के मध्य में किसानों को दी जाने वाली राशि एनएचएआई ने जारी भी कर दी है का मतलब साफ है कि इस पर काम बहुत ही जल्द शुरू भी कर दिया जाएगा ।