बिहार में आखिर अब तक चंडीगढ़, बंगलुरू जैसी प्लान सिटी क्यों नही बानी जानिए

0
425

अमेरिका की शहर हो या लंदन वही देश की कुछ शहरी भी बिल प्लान है जैसे चंडीगढ़ नवी मुंबई यह सभी सारे बिल प्लांट है जहां पर आपको सड़क किनारे पेड़ 90 डिग्री पर सड़क जैसी वेल प्लांट आपको शहर दिखाइए लेकिन बिहार के शहर जैसे पटना भागलपुर मुजफ्फरपुर गया यस सभी शहर पूरी तरह से बेल प्लांट आखिर क्यों नहीं है आखिर इन शहरों में सकरी गली ना कोई पार्टी ना कोई सही से व्यवस्था आखिर बिहार किस शहर इतनी बिल प्लान तरीके से क्यों नहीं बनाई गई तो आज हम इन्हीं सवाल के जवाब को ढूंढने की कोशिश करेंगे बिहार कि इन शहरों को प्लान वे में इसलिए नहीं बताया जा सका क्योंकि इसके कुछ कारण है इसमें महत्वपूर्ण तीन कारणों को बताया जाता है तो चलिए जानते हैं इन सभी तीन कारणों को।

सबसे पहला कारण है कि हिस्टोरिकल फैक्टर जैसा कि आपको पता होगा बिहार के कई शहर काफी हिस्टोरिकल है चाहे वह पटना हो या भागलपुर हो या मुजफ्फरपुर हो या दरभंगा हो यह सभी शहर काफी हिस्टोरिकल है इस वजह से जब इन शहरों को शुरू किया था तब यह शहर एक छोटे-छोटे गांव के रूप में थे तब इन शहरों को डिवेलप किया गया और उस समय लोगों को यह सरकार को यह नहीं पता था कि यह शहर आगे चलकर इतना तेजी से विकसित होंगे जिस वजह से यहां पर किसी भी तरह की के प्लान नहीं किए गए जैसा कि आप देखते होंगे शहर के जो हिस्टोरिकल इलाके होते हैं वहां पर सकरी रोड होते हैं क्योंकि पुराने शहरों को इस तरह से डिजाइन किया गया था कि वहां के सड़कों पर टांगे बैल रिक्शा आदि चल सके लेकिन जैसे-जैसे आप शहर से थोड़ी बाहरी इलाका में जाएंगे वहां पर आपको थोड़ा बहुत बेल प्लान तरीके से रोड और अन्य चीज़े बने हुए दिखेंगे यही वजह है कि बिहार के शहर जैसे पटना भागलपुर और गया जैसे सहारे चंडीगढ़ न्यूयॉर्क और अन्य शहरों की तरह पूरी तरह से प्लान तरीके से नहीं बनाए गए हैं।


बात करते हैं दूसरी फैक्टर इसक्नॉमिकल फैक्टर जैसा कि आपको पता होगा जब हमारा देश आजाद हुआ तब भारत की आर्थिक स्थिति बहुत ही खराब थी जिसके बाद देश के अन्य शहरों के साथ-साथ राजधानी पटना मुजफ्फरपुर भागलपुर को इन शहरों को बसाने पर ध्यान नहीं दिया गया जहां पर जरूरत ज्यादा थी वहा पैसे लगाए गए इस वजह से लोग इन शहरों में बसते गए वह भी अपने तरीके से सरकार इन शहरों में कुछ भी प्लान तरीके से रोड नेटवर्क आदि का जाल नहीं बिछा पाई क्योंकि इन शहरों में रोड पार्किंग इन सभी का जाल बिछाने के लिए पैसे की जरूरत थी और सरकार के पास उस वक्त इतने पैसे नहीं थे यह भी एक बड़ा वजह है कि बिहार के शहर प्लान वे में नहीं बनाया गए हैं ।

Recommended Videos

तीसरा सबसे बड़ा कारण है खुद की जिम्मेदारी बिहार के सभी शहरों में सरकार के अलावा लोगों की खुद की जिम्मेदारी जो होती है जो नियम का पालन करनी चाहिए उन नियमों को हम नहीं मानते अगर आप किसी दुकान को चलाते हैं तो आपने यह जरूर देखा होगा या खुद करते होंगे कि आप अपनी दुकान से थोड़ा आगे अपने सामान को जरूर रखते होंगे इस वजह से शहरों में अतिक्रमण होती है शहरों में अतिक्रमण सबसे बड़ा फैक्टर है आप हमेशा यह भी देखते होंगे कि अगर कोई वायर है तो किसी भी वायर को एक बिल्डिंग से दूसरे बिल्डिंग पर फेंक कर ही लाया जाता है उसके लिए कोई ग्राउंड वर्क नहीं किया जाता और यही सारी चीजें जब ज्यादा होती है तो शहरों की बनावट और उसकी खूबसूरती बिगड़ जाती है।