DM का बड़ा फैसला, कल से दुकानों को किया जायेगा बंद, जानिए क्यों सील होंगी दुकानें

0
615

 इस वक्त एक बड़ी खबर पटना से सामने आ रही है. कोरोना वायरस की दूसरी लहर को देखते हुए पटना के डीएम डॉ चंद्रशेखर सिंह ने बड़ा फैसला लिया है. होली से पहले दुकानदारों को बड़ा झटका लग सकता है. उनकी कमाई बंद हो सकती है. उनका रोजगार ठप पड़ सकता है. चूंकि बिहार सरकार के नियमों की लगातार अनदेखी की जा रही है और कोरोना गाइडलाइन की धज्जियां उड़ाई जा रही हैं. इसलिए पटना के डीएम डॉ चंद्रशेखर सिंह ने यह निर्णय लिया है कि अगर कोई भी दुकानदार या ग्राहक बिना मास्क के नजर आएंगे तो जिला प्रशासन बड़ी कार्रवाई करते हुए उनके दूकान को सील कर देगी.

पटना के जिलाधिकारी डॉ चंद्रशेखर सिंह ने दुकानों में मास्क/ सैनिटाइजर का प्रयोग सुनिश्चित कराने हेतु 8 टीमों का गठन किया है. दुकानों की जांच के दौरान अगर दुकानदार /उपभोक्ता बिना मास्क/सेनीटाइजर के प्रयोग के  पाए  गये तो संबंधित दुकान को सील किया जा सकता है. साथ ही सार्वजनिक स्थलों पर भी मास्क के प्रयोग की सघन जांच की जाएगी और दोषी से 50 रुपये के जुर्माना की वसूली की जाएगी. डीएम ने जिला परिवहन पदाधिकारी और मोटरयान निरीक्षक को वाहनों पर मास्क चेकिंग करने और जुर्माना वसूली का निर्देश दिया है।

 

जिलाधिकारी डॉ चंद्रशेखर सिंह ने कोरोना संक्रमण की रोकथाम और इससे बचाव के लिए  9 कोषांग का पुनर्गठन किया है. उन्होंने अधिकारियों और कर्मियों की प्रतिनियुक्ति की है और साथ ही कोषांग के अधिकारियों के साथ बैठक कर निर्धारित दायित्व का जवाबदेही से ससमय निष्पादन करने का निर्देश दिया है. डीएम ने बताया कि पटना जिलांतर्गत कोरोना जांच के कुल 66 केंद्र चालू हैं. साथ ही शहरी क्षेत्र में 5 मोबाइल टीम कार्यरत है. समीक्षा में पाया गया कि पटना शहरी क्षेत्र के 23 यूपीएचसी में से 22 सेंटर पर  टेस्टिंग की व्यवस्था चालू है. बाकी सिपाराडीह यूपीएचसी को भी 24 घंटे के भीतर शुरू करने का निर्देश दिया गया है. आईजीआईएमएस, पीएमसीएच, एनएमसीएच टेस्टिंग  सेंटर के रूप में कार्यरत है. होली पर्व के अवसर पर राज्य के बाहर से आने वालों के लिए कोरोना जांच की व्यवस्था पटना एयरपोर्ट, रेलवे स्टेशन दानापुर , राजेंद्र नगर और पटना जंक्शन पर किया गया है. साथ ही मीठापुर और बांकीपुर बस स्टैंड पर भी टेस्टिंग की व्यवस्था की गई है.

जिलाधिकारी  ने आदेश दिया है कि सभी क्षेत्रों में जागरुकता अभियान चलाया जाए, जिससे संक्रमण को लेकर लोग पूरी तरह से अलर्ट रहें. इसके लिए शहरी क्षेत्र के सभी अंचलों में अभियान चलाया जाएगा. पटना में 6 जागरुकता रथ चलाकर लोगों को जागरूक किया जाएगा. जागरुकता रथ के माध्यम से आम लोगों को मास्क, सैनिटाइजर का प्रयोग करने को लेकर जागरूक करने को कहा गया है. यह रथ रूट चार्ट के अनुसार प्रतिदिन अलग-अलग क्षेत्रों में भ्रमण करेंगे. जिला स्वास्थ्य समिति को 24 मार्च से प्रचार-प्रसार शुरू करने का निर्देश दिया गया है.

जिलाधिकारी ने आदेश दिया है कि सभी क्षेत्रों में जागरुकता अभियान चलाया जाए, जिससे संक्रमण को लेकर लोग पूरी तरह से अलर्ट रहें. इसके लिए शहरी क्षेत्र के सभी अंचलों में अभियान चलाया जाएगा. पटना में 6 जागरुकता रथ चलाकर लोगों को जागरूक किया जाएगा. जागरुकता रथ के माध्यम से आम लोगों को मास्क, सैनिटाइजर का प्रयोग करने को लेकर जागरूक करने को कहा गया है. यह रथ रूट चार्ट के अनुसार प्रतिदिन अलग-अलग क्षेत्रों में भ्रमण करेंगे. जिला स्वास्थ्य समिति को 24 मार्च से प्रचार-प्रसार शुरू करने का निर्देश दिया गया है.

पुनर्गठित 9 कोषांग – 

-कोविड-19 टेस्टिंग कोषांग

-नियंत्रण कक्ष सह परामर्श केंद्र कोषांग

-कांटेक्ट ट्रेसिंग कोषांग

-माइक्रो कंटेनमेंट जोन प्रबंधन कोषांग

-उपचार प्रबंधन कोषांग

-मीडिया कोषांग

-आगंतुक सर्वेक्षण कोषांग

-कोविड प्रोटोकॉल एनफोर्समेंट कोषांग

-कोविड-19 टीकाकरण कोषांग

ये हैं पटना में 22 शहरी पीएचसी – 
दीघा मुसहरी, शास्त्री नगर पीडब्ल्यूडी मैदान, कौशल नगर, रुकनपुरा, दीदारगंज मालसलामी, झकहरी महादेव, कमला नेहरू नगर, पूर्वी लोहानीपुर ,संदलपुर कुम्हरार, दाउदपुर बगीचा, बड़ी पहाड़ी पैजबा, मारूफगंज, कस्बा पटना सिटी, गुलजारबाग, जय प्रभा कंकड़बाग, गर्दनीबाग 6सी, आलमगंज मछुआ टोली, चांदपुर बेला, पश्चिमी लोहानीपुर,, पोस्टल पार्क, मुख्य सचिवालय, कंकड़बाग।

इसके अतिरिक्त  लोकनायक जयप्रकाश नारायण हॉस्पिटल राजवंशीनगर , न्यू गार्डिनर रोड अस्पताल , गर्दनीबाग अस्पताल , पाटलिपुत्र अशोक। यहां कोई भी व्यक्ति 10 बजे सुबह से दोपहर 3 बजे तक सेंटर में जाकर कोरोना जांच करा सकता है.

input firstbihar