बिहार में मिलेगा 17 पुलों सौगात जल्द देखें पूरी लिस्ट

0
1018

बिहार में रोड कनेक्टिविटी को और भी बेहतर बनाने के लिए बिहार के विभिन्न नदियों पर पुल का निर्माण तेजी से किया जा रहा है वहीं मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के सात निश्चय योजना दो को धरातल पर उतरने के लिए पूरी तरह से तैयार है अगले 4 सालों में कुल 17 पुलों की सौगात बिहार वासियों को मिलने वाली है जिसमें से बताया जा रहा है कि 17 पुलों में से केवल गंगा नदी पर 13 पुल बनाए जाएंगे जिसे बिहार की रोड कनेक्टिविटी और भी बेहतर हो पाएगी।

सबसे पहले भागलपुर मुंगेर में पुल का निर्माण किया जाएगा भागलपुर में 4 किलोमीटर लंबा 1110 करो रुपए की लागत वाले विक्रमशिला सेतु के समांतर ने पुल का निर्माण किया जाएगा इसकी टेंडर भी जारी कर दी गई है इसे 2024 तक पूरा कर लेने की परियोजना है इसके साथ-साथ सुल्तानगंज से अगवानी घाट के बीच गंगा नदी पर करीब 160 मीटर लंबा पुल का निर्माण किया जा रहा है जिसे 1510 करोड़ की लागत से बनाया जा रहा है इसे 2021 तक पूरा कर लेने की योजना है।

कोसी नदी पर दो पुल का अभी फिलहाल निर्माण किया जा रहा है कोसी नदी पर दो लेन पुल एनएच 527 यह पर मधुबनी के भेजा और सुपौल के वर्क और के बीच करीब 13 किलोमीटर लंबी और 1101 करोड़ की लागत से पुल का निर्माण किया जा रहा है जिसे 2023 में पूरा कर लिया जाएगा वहीं दूसरा एनएच 106 पर फोरलेन फूल और पूल का निर्माण किया जाएगा इसके लिए निर्माण एजेंसी को भी चुन लिया गया है यह करीब 100 किलोमीटर लंबा होगा और इसका निर्माण जल्दी पूरा कर लिया जाएगा।

बेगूसराय में गंगा नदी के ऊपर राजेंद्र सेतु के समांतर सिमरिया में रेल सड़क पुल का निर्माण किया जा रहा है जोकि 1991 करोड़ की लागत से इसे बनाया जा रहा वही फोर लाइन मटिहानी से शंभूपुर अप्रोच सहित करीब 22 किलोमीटर लंबा 5000 करोड़ रुपए की लागत से एक और पुल का निर्माण किया जा रहा है इसे 2024 में पूरा कर लिया जाएगा इसके अलावा राजधानी पटना में गांधी सेतु के समांतर रिकॉर्ड 5 किलोमीटर लंबा पोलैंड पुल का निर्माण इसी साल शुरू हो जाएगा इस 2024 तक पूरा कर लिया जाएगा इसके साथ-साथ जेपी सेतु के समांतर दूरलेन केवल रोड ब्रिज करीब 3000 करोड़ रुपए की लागत से बनाने की योजना है।

इसके साथ साथ कटिहार और बक्सर में भी पुल का निर्माण किया जा रहा है बक्सर से चौसा के बीच ढाई किलोमीटर लंबा पुल का निर्माण किया जा रहा है जिसे 2021 तक पूरा कर लेने की उम्मीद जताई जा रही है वही बिहार और झारखंड को जोड़ने वाली 6 किलोमीटर लंबा मनिहारी साहेबगंज पुल का निर्माण उन्नीस सौ करोड़ की लागत से किया जाएगा इसकी टेंडर भी जारी कर दी गई है ऑडियो 2024 तक पूरा कर लेने की संभावना है।