दूल्हा मंडप में बैठा रहा गया, दुल्हन निकली सरकारी नौकरी के काउंसलिंग के लिए फिर…

0
757

सुबह 5:00 बजे का समय दुल्हन की मांग में सिंदूर और मंडप से उठकर निकल पड़ी सरकारी नौकरी के काउंसलिंग के लिए और दूल्हा बैठा रह गया मंडप में दरअसल यह वाक्य उत्तर प्रदेश की गुड्डा के रामनगर में बाराबंकी की रहने वाली प्रज्ञा तिवारी मेहंदी रची हाथों में अपने डॉक्यूमेंट को संभालते और फ्रॉम फील करते हुए दिखे इसके बाल में मोगरे के फूल के गजरे सजे हुए थे और कान में झुमके लगे हुए थे आपको बता दूं कि प्रज्ञा की शादी बुधवार को सुबह 5:00 बजे पूरी हुई जैसी पूरी हुई वैसे ही प्रज्ञा मांग में सिंदूर रखे हुए मंडप से उठकर सीधे बीएसए ऑफिस के लिए निकल पड़ी जहां पर प्रज्ञा की काउंसलिंग होनी थी।

आपको बता दूं कि प्रज्ञा को मंडप से उठकर इसलिए आना पड़ा क्योंकि काउंसलिंग की डेट फिक्स थी इस वजह से प्रज्ञा की कई रस्मे अधूरी ही रह गई वहीं दूसरी तरफ जैसे ही डॉक्यूमेंट चेक कराई और काउंसलिंग फाइनल होगा और वह सीधा अपने दूल्हे के साथ मंडप में आकर बैठ गई जिसके बाद सारी रस्में पूरी किए गए और उसके बाद अपने ससुराल के लिए पति के साथ विदा हो गई प्रज्ञा का कहना है कि उनका पति उनके लिए बहुत ही लकी है क्योंकि उनके पति के इनके जीवन में आते ही उन्हें नौकरी लग गई इसके साथ-साथ वह कहते हैं कि सभी पेरेंट्स से अपील है कि वह सभी अपनी बेटियों को खूब पटाए ताकि वह सेल्फ डिपेंड बन सके।