पटना वासियों को मिला एक और सैर सपाटे का सपॉट, गंगा विहार 5 दिसंबर से हाे सकता है शुरू जानिए पूरी जानकारी

0
801

मोदी सरकार गंगा को एक पर्यटन स्थल के रूप में विकसित करने के लिए केंद्र सरकार आने की योजनाओं पर काम कर रही है जिसमें से एक मकान की योजना है नमामि गंगे योजना जिसके तहत गंगा घाटों का विकास गंगा की साफ-सफाई आदि किए जा रहे हैं जिसके तहत राजधानी पटना के गंगा के घाटों को धीरे-धीरे विकसित किया जा रहा है और पर्यटन को आकर्षित करने के लिए आधारभूत संरचना को और भी मजबूत किया जा रहा है जिसके तहत हाल फिलहाल में रिवर फ्रंट योजना पूरा किया गया है लेकिन अब इसी क्रम में राजधानी पटना के गंगा घाटों घाटों पर लोग सैर सपाटा के साथ साथ गंगा में वोटिंग पार्टी आदि कर सके इसको लेकर भी सरकार गंभीर है।

राजधानी पटना में गुजरने वाली गंगा नदी में दिसंबर से एमवी गंगा विहार फिर से चालू होने जा रही है। गंगा की लहरों के बीच आम लोग जल्द ही खाने और पार्टी मनाने का लुत्फ उठा सकेंगे, पांच दिसंबर तक पर्यटकों को सुविधा मिल सकती है। साेशल डिस्टेंसिंग एवं अन्य मानकाें का पालन करते हुए पर्यटकाें काे करीब 20 किमी सैर कराई जाएगी। जहाज पर एक साथ 40 पर्यटक बैठ सकते हैं। एक घंटा की सैर के लिए प्रति व्यक्ति 100 रुपया किराया लगेगा।

पर्यटकों को गंगा की सैर कराने के लिए जहाज गांधी घाट से खुलकर दानापुर हांडी घाट से लेकर दीदारगंज तक जाएगा। गांधी घाट से खुलने के बाद यह एक तरफ दानापुर के हांडी घाट और दूसरी तरफ दीदारगंज तक का सफर तय करेगा। यह जहाज हर दिन सुबह से शाम सात बजे तक 8-9 ट्रिप लगाएगा। बीच में भी कुछ स्थानों पर स्टेशन बनाने की योजना है। फिलहाल, इसके लिए स्थान का चयन किया जा रहा है।