सब्सिडी पर बिस्कोमान बेचेगा प्याज लेकिन चुनाव निर्वाचन आयोग ने लगाई रोक

0
751

राजधानी पटना सहित पूरे देश में आलू प्याज के और सब्जियों के भाव में काफी तेजी से बढ़ोतरी हो रही है इसी बीच आलू प्याज की बढ़ती कीमत को देखते हुए बिहार विधानसभा चुनाव में मुद्दा यह बन चुका है इसी बीच खबरों के अनुसार दैनिक भास्कर डिजिटल के पास मौजूद एक चिट्ठी के अनुसार बिहार स्टेट कोऑपरेटिव मार्केटिंग यूनियन लिमिटेड बिस्कोमान ने महंगाई की मार सिरोको राहत दिलाने के लिए पिछले बार की तरह इस बार भी बिस्कोमान प्याज बेचने की योजना बनाई थी लेकिन चुनाव आयोग ने 22 अक्टूबर को पत्र लिखकर इस पर रोक लगा दी।

 

जानकारी के लिए आपको बता दूं कि पिछली बार जब बाजार में प्याज की कीमत 90 से ₹100 पहुंच गई थी तब बिस्कोमान ने लाइन लगाकर लोगों को ₹35 किलो की दर से प्याज की बिक्री की थी कोई राजधानी पटना में अभी बाजार में आलू का भाव 45 से ₹50 तक पहुंच चुका है वही प्याज का भाव ₹70 के आसपास पहुंच चुका है इसके बारे में जानकारी देते हुए बिस्कोमान के चेयरमैन सुनील सिंह ने बताया कि सरकार ने हमें प्याज मंगवाने को कहा था लेकिन भारतीय निर्वाचन आयोग नई दिल्ली के सचिव प्रमोद कुमार शर्मा ने बिहार के मुख्य निर्वाचन आयोग को पत्र लिखकर चुनाव होने तक आलू प्याज की प्रतिस्पर्धात्मक दर पर खुली बिक्री को स्थगित करने को कहा है, वही यह पत्र बिस्कोमान के चेयरमैन को चुनाव आयोग ने 22 अक्टूबर 2020 को लिखा है बिस्कोमान के चेयरमैन का कहना है कि हमने पूरी तैयारी कर ली थी और हमने 50 ट्रक प्याज मंगवा कर लोगों को सस्ती दर पर प्याज उपलब्ध करवाएं दी जाए लेकिन चुनाव आयोग ने इस पर रोक लगा दी।