एसबीआई बैंक, डिजिटल पेमेंट और एलपीजी गैस 1 नवंबर से बदल जाएंगे यह तीन नियम जरूरी है कि आप जान ले

0
678

पूरे देश में 1 नवंबर से सरकार आम आदमी को सरोकार रखने वाली तीन नियमों में बड़ा बदलाव करने जा रही है यह तीनों हुए मुद्दे हैं जिससे आम आदमी सीधी तौर पर जुड़ी हुई है ऐसे में जाहिर है कि इनके नियम बदलने से पहले इसके बारे में आप जान ले सबसे पहला बदलाव एलपीजी यानी रसोई गैस सिलेंडर के डिलीवरी को लेकर है इसके अलावा दूसरा बदलाव बैंकिंग सेक्टर के एसबीआई से जुड़ा है जी हां अगर आपका अकाउंट एसबीआई में है तो आप इसे जरूर एक बार पढ़ ले इसके अलावा तीसरा बदलाव सरकार डिस्टर्ब पेमेंट से जुड़ी हुई कुछ बातों में करने जा रही है।

पहला नियम
एलपीजी गैस होम डिलीवरी 1 नवंबर से एलपीजी सिलेंडर के कुछ नियम पूरी तरह से बदलने वाले हैं नए नियम के तहत उपभोक्ताओं को एलपीजी यानी रसोई गैस सिलेंडर लेने के लिए उपभोक्ताओं को ऑनलाइन बुकिंग के साथ-साथ उनका भुगतान भी करना पड़ेगा पैसा देने के बाद गैस उपभोक्ता को रजिस्ट्रेशन नंबर पर ओटीपी जाएगा और अब गैस एजेंसी का कर्मचारी गैस सिलेंडर का डिलीवरी करने आएगा तो इसी ओटीपी को दिखाना होगा तभी आप गैस ले पाएंगे।

दूसरा नियम
दूसरा नियम एसबीआई इंटरेस्ट रेट सेविंग अकाउंट से जुड़ा हुआ है दरअसल भारतीय स्टेट बैंक यानी एसबीआई भी अपने नियमों में 1 नवंबर से बड़ा बदलाव कर रहा है लेकिन यह बदलाव एसबीआई कस्टमर ओं के लिए बुरी खबर है आपको बता दूं कि एसबीआई एक नवंबर से अपने सेविंग अकाउंट देने वाली ब्याज दर में कमी लाने वाली है जो कि 1 नवंबर से लागू होगा।

तीसरा नियम
इसके साथ तीसरा नियम जो बदलने वाला है वह है न्यू लॉ फॉर डिजिटल पेमेंट 1 नवंबर से हो रहा है जो तीसरा बदलाव हुआ है डिजिटल पेमेंट से जुड़ा हुआ इस नए नियम के तहत 50 करोड़ से अधिक की टर्नओवर वाले बिजनेसमैन को डिजिटल पेमेंट लेना अनिवार्य कर दिया जाएगा आपको बता दूं कि आरबीआई का यह नया नियम 1 नवंबर से लागू होगा वही अब इस नए नियम के तहत ग्राहकों से डिजिटल पेमेंट के लिए अब किसी भी तरीके का शुल्क नहीं वसूला जाएगा आपको यह भी बता दूं कि यह नियम उन्हीं पर लागू होगा जो कारोबारी है जिनका कारोबार 50 करोड़ या उससे अधिक के टर्नओवर वाला कारोबार है