ओपनिंग पोल के अनुसार नीतीश कुमार और तेजस्वी यादव के लोकप्रियता में सिर्फ 4% का अंतर जाने किसकी बहुमत आरही है।

0
327

बिहार में विधानसभा चुनाव का पहला चरण 28 अक्टूबर को शुरू होगा इसको लेकर सभी पार्टियां अपनी पूरी दमखम के साथ प्रचार अभियान में लगी हुई है इसी के साथ 10 नवंबर को जनता के बीच बिहार में सत्ता किसकी बनेगी इसकी भी घोषणा कर दी जाएगी इसी बीच ओपनिंग पोल भी आना शुरू हो चुका है एक पोल के मुताबिक एनडीए सीट और नीतीश कुमार से गठबंधन को 38 फ़ीसदी वोट मिलने की संभावना है कोई तेजस्वी यादव और उनके महागठबंधन को 32 फ़ीसदी वोट मिलने की संभावना है।

आपको बता दूं कि आजतक के इस ओपनिंग पोल को सीएसडीएस लोक नीति के ओपनिंग पोल के तहत मिली जानकारी के अनुसार बिहार चुनाव में जो राजनीतिक पार्टी वाले गठबंधन ग्रैंड डेमोक्रेटिक सेकुलर फ्रंट यानी महागठबंधन को 7 सीटें सीट मिलेंगे वहीं चिराग पासवान की लोक जनशक्ति पार्टी को 6 % वोट मिलने के संकेत दिए गए हैं ऐसे में अब ओपनिंग पोल यह साफ करता है कि बिहार में एक बार फिर से एनडीए गठबंधन की सरकार बन सकती है और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार चुने जा सकते हैं।

वाही ओपनिंग पोल को जरा संक्षेप में नजर डाले तो बिहार की कुल 243 सीटों में से एनडीए को 133 से 143 सीटें मिल सकती है वाही बिहार विधान सभा में बहुमत का आंकड़ा 122 है यानी कि नीतीश कुमार कि सरकार पूर्ण बहुमत के साथ इस आंकड़े को बड़े आराम से छू सकती है वहीं दूसरी तरफ तेजस्वी यादव और महागठबंधन को करीब 88 से 98 सीटें मिलने की संभावना जताई गई है इसके अलावा चिराग पासवान की एलजेपी को दो से 6 सीटें मिलने की संभावना जताई गई है।

वही इस ओपनिंग पोल में सबसे अहम बातें सामने आई है कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की लोकप्रियता पहले के मुकाबले काफी कम हो गई है आपको जानकारी के लिए बता दूं कि 2015 में 80% लोग नीतीश सरकार के कामकाज से संतुष्ट थे लेकिन 2020 के इस ओपनिंग पोल में यह आंकड़ा गिरकर 52% हो गया है 2015 में जहां 18% लोग नीतीश सरकार से असंतुष्ट थे 2020 में बढ़ चुका है जो कि नीतीश सरकार के कामकाज से 44% लोग और असंतुष्ट है लेकिन इसी के बीच ओपनिंग पोल यह भी साफ करता है कि मुख्यमंत्री के तौर पर नीतीश कुमार फिर से बिहार में अपना सत्ता जमा सकते हैं, इसके साथ-साथ आपको बता दूं कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार अभी लोगों 21℅ लोग उन्हें बेहतर मुख्यमंत्री मानते हैं वहीं दूसरी तरफ तेजस्वी यादव 27 % लोग बेहतर मुख्यमंत्री के रूप में देखना चाहते हैं।