बिहार में बाढ़ से भीषण तबाही 9 लाख हेक्टेयर जमीन में लगी फसल की बर्बाद यह जिला सबसे ज्यादा प्रभावित

0
291

बिहार में इन दिनों बाढ़ अपनी पूरी चरम पर है और इस वजह से बिहार में बाढ़ से भारी तबाही हो चुकी है देश और दुनिया में जब से मानसून आता है तो किसान के चेहरे पर मुस्कान आ जाती है लेकिन बिहार में जब मानसून आता है तो किसान के चेहरे पर मायूसी छा जाती है इसका सबसे बड़ा वजह है मानसून से हुए भारी बारिश के वजह से बिहार के उत्तर में नदियां उफान पर आ जाती है जिस वजह से भारी तबाही आती है और लाखों हेक्टेयर की फसलें तबाह हो जाती है और लोगों का जनजीवन व्यस्त हो जाता है.

 

 

इसी कड़ी में बिहार में करीब-करीब अब तक 9 लाख एकड़ में लगी फसल का नुकसान हो चुका है वही सबसे ज्यादा नुकसान बिहार के मुजफ्फरपुर जिले में हुआ है बाढ़ ने उत्तर बिहार और उस इलाके में 19 जिले को अपनी चपेट में ले चुका है और करीब 8.84 लाख हेक्टेयर तक पूरी तरह फसल प्रभावित हुए हैं आपको बता दूं कि मुजफ्फरपुर के किसानों को सबसे ज्यादा नुकसान हुआ है जो 85.29 हजार हेक्टयर फसल बर्बाद हो चुका है वही दूसरे नंबर में दूसरे नंबर पर है सीतामढ़ी जहां पर 83.54 हेक्टेयर जमीन पर लगे फसल को नुकसान हुआ है.

 

 

दूसरी तरफ बिहार में बाढ़ और सूखा का दोनों का सामना करना पड़ता है उत्तर बिहार में बाढ़ का सामना करना पड़ता है वहीं दक्षिण बिहार में सुखाड़ का सामना करना पड़ता है वहीं इसके साथ-साथ बिहार में जो जो जिले बाढ़ से प्रभावित हुए हैं वह इस प्रकार है कटिहार अररिया पूर्णिया मधेपुरा सुपौल खगड़िया समस्तीपुर सीवान सारण गोपालगंज मुजफ्फरपुर पूर्वी चंपारण पश्चिमी चंपारण सीतामढ़ी शिवहर वैशाली दरभंगा और मधुबनी आदि में शामिल है और यह जिला सबसे ज्यादा बढ़ से सफर कर रहे है।