बिहार में किसानों को बिहार सरकार सिखाएगी खेती करने, इन 7000 गांव का चयन

0
366

बिहार में कृषि क्षेत्र में अच्छी पैदावार को बढ़ावा देने के लिए बिहार सरकार ने एक अहम कदम उठाते हुए यह एक बड़ा निर्णय लिया है कि बिहार सरकार ही खुद किसानों को खेती करने की तरीकों को बताएगी वही आपको बता दू की इसके लिए 6957 गांवों में सरकार की देखरेख में स्वायल हेल्थ कार्ड की अनुशंसाओं के आधार पर खेती होगी। वही अभी बिहार सरकार बड़े पैमाने पर किसानों को स्वाईल  कार्ड भी दिया है लेकिन बिहार के किसान अभी उन कार्ड के अनुसार खेती नहीं कर रहे हैं जिस वजह से किसानो को नुक्सान का सामना करना पर रहा है। 

 

वही आपको  जानकारी के लिए बता दूं कि बिहार के किसान जहां पर नाइट्रोजन का प्रयोग करना है वहां पर किसान यूरिया का छिड़काव करते हैं जिस वजह से फसल की पैदावार अच्छी नहीं होती है बिहार सरकार ने फैसला किया है कि इस बंदी के  बीच खेती करने के उपयोगी तरीकों को सिखाएगी वही इस योजना के तहत 2957 गांव में अधिकारी के देखरेख में किसानों को खेती करने का तरीका को लाने पर जोर दिया जा रहा है खेती करने के तरीकों में रवि और खरीफ फसल दोनों पर ध्यान दिया जाएगा .

 

वही बिहार सरकार के तरफ से दी गई जानकारी के अनुसार अभी फिलहाल इस योजना की शुरुआत बिहार के 2000 गांव में शुरू की जाएगी वही हर गांव में एक एकर जमीन पर इसकी शुरुआत की जाएगी इसके साथ ही 2957 गांव में होगा डिमॉन्स्ट्रेशन होगा आपको बता दूं कि बिहार के 38 जिलों के गांव का चयन हुआ है अब देखना होगा कि इन सारी  परियोजनाओं को जमीनी स्तर पर किस तरह से और कितना जल्द उतर पाता  है और इससे किसान वर्ग को कितना फायदा मिल पाता है।