उत्तर बिहार में बाढ़ का कहर जारी कई मार्गों पर ट्रेन परिचालन रहा बाधित

0
533

इन दिनों बाढ़ की हालत बहुत ही ख़राब हो चुकी है जिस वजह से कई ज़िले इससे प्रभावित है वही उत्तर बिहार में रविवार को हल्की बारिश के बीच बाढ़ का खतरा अभी भी बना हुआ है ।आपको बता दू की दरभंगा और मुजफ्फरपुर में दो बांध टूट की खबरे आ रही है । इससे कई गांवों में पानी फैलता जा रहा है। समस्तीपुर-दरभंगा मुख्य पथ पर बागमती और दरभंगा-जयनगर एनएच -527 बी पर खिरोई का पानी चढ़ गया है। समस्तीपुर-दरभंगा रेलखंड पर तीसरे दिन और सुगौली-मंझौलिया रेलखंड पर दूसरे दिन ट्रेन परिचालन पूरी तरह से बाधित रहा।

 

 

वही दूसरी तरफ बताया जा रहा है कि बाढ़ के पानी में डूबने से पूर्वी चंपारण के छह, दरभंगा के दो, मधुबनी व सीतामढ़ी के एक -एक व्यक्ति की जान चली गई है वही दूसरी तरफ इसी कड़ी में पश्चिम चंपारण में गंडक का जलस्तर 1.63 लाख क्यूसेक रहा। इसके साथ साथ इस बढ़ के वजह से बिहार के बढ़ प्रभावित इलाके से संपर्क भी टूट रहा है पूर्वी चंपारण में केसरिया के राजद विधायक डॉ. राजेश कुमार के गांव सरोत्तर के पास पुल ध्वस्त हो गया। मोतिहारी शहर के पास के क्षेत्रों में पानी फैल रहा है। मधुबन प्रखंड के गांवों में पानी घुसा है।

 

आपको बता दू की आपदा कार्य में लापरवाही को देखते हुए सुगौली व मोतिहारी सीओ हटा दिए गए। वही वायु सेना मोर्चा संभल ली है अभी वायु सेना के दो हेलीकॉप्टरों से फूड पैकेट्््स गिराए गए। मधुबनी में कमला बलान खतरे के निशान से ऊपर है। समस्तीपुर के निचले क्षेत्रों में पानी फैला है। जिससे जान जीवन प्रभावित हुआ है सीतामढ़ी में नदियां लाल निशान के पार हैं। मोतिहारी व सीतामढ़ी से शिवहर का संपर्क भंग रहा।बाते जा रहा की अभी बिहार में लगभग 1.50 लाख लोग बाढ़ से प्रभावित हुए है जिनकी काफी ख़राब है |