द माउंटेन मैन नाम से विख्यात दशरथ मांझी के परिवार के लिए आगे आये सोनू सूद,

0
480

अभी-अभी एक बड़ी खबर निकल कर सामने आ रही है कि बिहार के ‘द माउंटेन मैन’ के नाम से विख्यात और गया निवासी दशरथ मांझी का परिवार कोरोना लॉकडाउन और बच्ची के एक्सीडेंट की वजह से कर्ज में डूब हुआ है. इसकी वजह से उनका परिवार अब सरकार से मदद की गुहार लगा रहा है. बताया जा रहा है कि ऐसे में एक बार फिर से सोनू सूद ने दरियादिली दिखाते हुए कहा कि आज से उनके परिवार की सारी टेंशन खत्म समझ लो. एक लड़के ने ट्वीट कर सोनू सूद को टैग करके लिखा था कि देश में ‘द माउंटेन मैन’ के नाम से विख्यात दशरथ मांझी का परिवार दाने दाने के लिए मोहताज है.

 

उसके बाद सोनू सूद ने ट्वीट कर लिखा है कि आज से उनकी सारी टेंशन खत्म.इस परिवार के लिए मनो सोनू सूद किसी भगवन से काम नहीं है जिहोने उनकी मदद के लिए आगे आये है | ऐसा नहीं है की उन्होंने केवल इसी परिवार को मदद देने को कहा है | बताया जाता है की उन्होंने न जाने कितने लोगो के मुसीबत में मदद के लिए आगे आये है ,इस दुनिया में बहुत सरे लोग है जो नाम और शोहरत के लिए का करते है याकि किसी मकसद या अपने फायदे के के लिए किसी की मदद करते है लेकिन कुछ लोग बिना किसी मिडिया के सामने आये हुए यानि परदे के पीछे रह कर बिना किसी सवार्थ के लोगो की मदद करते रहते है. सोनू सूद उन्ही लोगो में से है जो केवल मदद करना जानते है .

 

आपको बता दू की माउंटेन मैन के बेटे भगीरथ मांझी को वृद्धा पेंशन और बेटी को विधवा पेंशन का लाभ मिलता था जो वह भी बंद कर दिया गया है. परिवार ने बताया कि पिता पर फिल्म बनाने वाले बॉलीवुड फिल्म निर्देशकों ने फ़िल्म की दो प्रतिशत रॉयल्टी मिलने समेत कई वादे किए गए थे, मगर अभी तक कुछ भी नहीं मिला है. परिजन आज भी पहले की तरह फुस के बने घरों में रहने को मजबूर हैं. मांझी के बेटे ने बताया कि हमलोग बहुत गरीब हैं. बच्ची का इलाज कर्ज लेकर कराये हैं.बच्ची के इलाज के लिए हमलोगों के पास अब रुपया नहीं हैं. घर से बाहर रह कर काम करता था मगर लॉकडाउन की वजह से घर आ गया और नौकरी भी छूट गई.अब चिंता है इस स्तिथि में घर कैसे चलेगा |