जानिए विश्व युवा कौशल दिवस पर क्या बोले प्रधानमंत्री मोदी

0
201

आज विश्व युवा कौशल दिवस के अवसर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने आज 11 बजे वीडियो संबोधन में कहा कि आज के युवा की सबसे बड़ी ताकत उनकी स्किल छमता है। इस दौरान पीएम मोदी ने युवाओं के लिए एक नया मंत्र भी दिया जो उन्हें संकट के समय में प्रासंगिक रहने और उन्हें सशक्त बनाने में मदद गार होगी । उन्होंने कहा कि यह दिन आपके कौशल के लिए समर्पित है। उन्होंने ने कहा कि सहस्राब्दी युवाओं की सबसे बड़ी ताकत नए कौशल प्राप्त करना रहा है |लेकिन कोरोना संक्रमण ने नौकरियों की प्रकृति को ही बदल दिया है,

 

 

और फिर एक नई तकनीक है जिसने हमारे जीवन को भी प्रभावित किया है। प्रधानमंत्री जी ने कहा कि वर्तमान समय में अपनी प्रासंगिक को बनाये रखना ही महत्वपूर्ण है ताकि लोग न केवल अपनी आजीविका कमा सकें, बल्कि दूसरों की भी मदद कर सकें।उन्होंने जो मंत्र दिया है “प्रासंगिक बने रहने का” कौशल, पुन: कौशल और उन्नति।” प्रधानमंत्री जी ने कहा कि कौशल वह चीज है जो आप सीखते हैं -जैसे लकड़ी के टुकड़े से कुर्सी का निर्माण। आपने कुछ मूल्यवर्धन करके लकड़ी के मूल्य में वृद्धि की, और प्रासंगिक बने रहने के लिए,

 

 

आपको इसमें कुछ नया करते रहना होगा। लेकिन हमारे कौशल को और अधिक विस्तारित करना महत्वपूर्ण होता है, यह दिन स्किल इंडिया मिशन के शुभारंभ की पांचवीं वर्षगांठ का प्रतीक है। संयुक्त राष्ट्र द्वारा मान्यता प्राप्त ये कार्यक्रम, WYSD प्रत्येक वर्ष 15 जुलाई को किया जाता है। इसका उद्देश्य रोजगार, सभ्य कार्य और उद्यमिता के लिए युवाओं के कौशल के रणनीतिक महत्व को पहचानना है।ताकि उनमे छमता का विकास हो सके इस योजना के माध्यम से युवाओं को कौशल विकास के लिए प्रेरित किया जायेगा।

 

इसके अलावा मिनिस्ट्री ऑफ स्किल डेवलपमेंट एंड एंटरप्रेन्योरशिप के महत्वपूर्ण योजनाओं-नेशनल स्किल डेवलपमेंट मिशन, नेशनल पॉलिसी फॉर स्किल डेवलपमेंट एंड एंटरप्रेन्योरशिप 2015, प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना और स्किल लोन स्कीम की शुरुआत की गयी। भारत में 65 फीसदी आबादी युवा की हैआपको बता दें कि वर्ल्ड यूथ स्किल डे भारत के लिए और अधिक महत्वपूर्ण है। भारत में कुल आबादी के करीब 65 फीसदी लोग 35 वर्ष से कम आयु के है। भारत दुनिया के सबसे युवा देशों में शामिल हैं।विशेषज्ञों का मन्ना है की भारत के पास आपार छम्तायें है |भारत इसका इस्तमाल करके विश्व की सबसे बड़ी अर्थवयवस्था में परिवर्ती हो सकता है |