चंद्रग्रहण : क्या होगा पटना पर असर और क्या करे

0
1992

फिर से एक बार फिर चंद्रग्रहण लग चूका है जो की सुबह 8.38 बजे से शुरू हो गया है, जो 11.21 बजे यह ग्रहण चलेगा लेकिन यह ग्रहण बिहार में नई दिखेगा और ना ही भारत में इसे सिर्फ विदेशो में ही देखा जा सकता है वही इसको लेकर ज्यादातर ज्‍योतिषियों का मानना है की यह एक प्रकार का उपछाया ग्रहण है, इसका साफ़ मतलब है की इसका आसार यहाँ नहीं होने वाला है हलाकि आपको बता दू की धार्मिक मान्यताओ का मन्ना है की इसका आसार जरूर परने वाला है आपको जानकारी के लिए यह भी बता दू की यह साल का दूसरा ग्रहण है।

 

पंडितो के माने तो पटना और सम्पूर्ण बिहार में इसका कोई असर नहीं पड़ेगा क्यों की इसे पटना सहित पुरे बिहार में नहीं देखा जा सकता है इस वजह से इसका सूतक भी नहीं लगेगा, यह सूतक वही पर मान्य होता है जहा पर ग्रहण लगता है यह ग्रहण सिर्फ अमेरिका यूरोप और आस्ट्रेलिया में ही देखा जा सकता है सिर्फ साथ ही पंडितो का कहना है की महीनो में दो या अधिक ग्रहण अशुभ माना जाता है इसके लिए नहाना दान पूजा का प्रबधन है साथ ही इसके लिए गायत्री मंत्र का जाप भी बिलकुल सही माना गया है। आपको बता दू की आज से ठीक 15 दिन पहले सूर्यग्रहण लगा था।