बिहार में तैयार हुआ बाहुबली इलेक्ट्रिक इंजन पटरी पर दौरने लगी

0
367

बिहार के मधेपुरा के रेल फैक्ट्री में बानी बाहुबली इंजन यानि सबसे शक्तिशाली 16 विद्युत इंजन अब इंडियन रेलवे में दौरने लगी है इसमें से निकला एक इंजन का लगत एक करोड़ की है, ख्य जनसंपर्क अधिकारी राजेश कुमार ने कहा कि विश्व में पहली बार बड़ी लाइन पर संचालन होने वाली यह उच्च क्षमता वाली इंजन है। अब तक 16 उच्च अश्वशक्ति वाली विद्युत इंजन भारतीय रेल को अपनी सेवाएं दे रही है। आपको बता दू की इसकी रफ़्तार अब तक इंडियन रेलवे माल गाड़ी के इतिहास में सबसे ज्यादा है।

 

मिली जानकारी की माने तो इसकी रफ़्तार 120 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ़्तार बताई गई है जो की औरो इंजन से तुलना की जाए तो उससे सीधा दुगुना होगी आपको बता दू की विद्युत इंजन निर्माण के लिए पब्लिक प्राइवेट पार्टनरशिप (पीपीपी) मॉडल के तहत करीब 1200 करोड़ राशि की लागत से मधेपुरा इलेक्ट्रिक लोको फैक्ट्री लिमिटेड की स्थापना की गई। इस फैक्ट्री को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी का ड्रीम प्रोजेक्ट मेक इन इंडिया के तहद बनाई गई है इसकी आधार सिला 2018 में राखी गई थी।

 

आपको बता दू की इस इंजन के बन जाने के बाद भारत अब दुनिया के अधिक हॉर्स पॉवर इंजन बनाने वालो देश के क्लब में भी शामिल हो गया है और और भारत अब दनिया का छठा देश बन चूका है जो की हम भारतीयों के लिए गर्व की बात है इसकी सबसे बड़ी बात यह है की सॉफ्टवेयर और एंटीना के माध्यम से इसके रणनीतिक उपयोग के लिए इंजन पर जीपीएस के जरिए करीबी नजर रखी जा सकती है। अब जल्द ही अगले 11 साल में करीब 20 हजार करोड़ की लागत से 1000 उच्च अश्वशक्ति का डीजल इंजन निर्माण पूरा होगा।