बॉर्डर पर तनाव को लेकर चर्चा, PM के सर्वदलीय बैठक में बिहार CM भी शामिल होंगे

0
536

बीते पिछले कुछ दिन पहले गलवान घाटी में चीनी सैनिकों के साथ तनाव बरकरार है तब से चीन को जवाब देने के लिए केन्द्र सरकार प्रतिवाद नजर आरही है चीन क्राइसिस को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तरफ से बुलाई गई सर्वदलीय बैठक में बताया जा रहा है आज कि बिहार के मुख्यमंत्री और जेडीयू अध्यक्ष नीतीश कुमार शामिल होने जा रहे है | प्रधानमंत्री ने सर्वदलीय बैठक में कुल 17 राजनीतिक दलों को न्योता दिया है. जनता दल यूनाइटेड की तरफ से इस बैठक में नीतीश कुमार वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए जुड़ेंगे. बैठक में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह भी शामिल रहेंगे.

 

 

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, प्रधानमंत्री की सर्वदलीय बैठक में आज बिहार से सटे नेपाल सीमा पर मौजूदा तनाव की चर्चा भी कर सकते हैं.ये तनाव कोई आज की नहीं बहुत पहले से है इसी सीमावर्ती इलाके से बिहार में कई गलत कार्यो को अंजाम दिया जाता रहा है नेपाल के जरिये कितिनी चीनी सामान बिहार में तस्करी किये जाते है | जानकारों का मानना है कि बिहार में जिस तरह बॉर्डर एरिया के पास नेपाल की तरफ से तनाव देखा जा रहा है बिहार से लगने वाली नेपाल की 600 किलोमीटर से ज्यादा के बॉर्डर पर हाई अलर्ट जरी किया गया है. माना जा रहा है कि नेपाल लगातार चीन के बहकावे में भारत के खिलाफ सीमा पर तनाव बढ़ा रहा है.

 

 

नीतीश कुमार के अलावे बिहार से बड़े नेता सर्वदलीय बैठक में शामिल हो सकते है.उनमें लोक जनशक्ति पार्टी के अध्यक्ष चिराग पासवान भी शामिल है. इस बैठक में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के साथ साथ महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे, सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव, झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन, बसपा सुप्रीमो मायावती, अकाली दल के नेता सुखबीर सिंह बादल, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी, तेलंगाना के मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव, उड़ीसा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक, लेफ्ट के नेता सीताराम येचुरी, डी राजा, एनसीपी नेता शरद पवार, जगन रेड्डी, चंद्रबाबू नायडू और एमके स्टालिन शामिल हैं.