राजधानी पटना इस एरिया को यातायात हब के रूप में किया जाएगा विकसित जानिए।

0
1965

कभी यातायात के रुप में राजधानी पटना के मीठापुर को देखा जाता था जहां पर आपको बता दूं कि मीठापुर के आसपास ही रेलवे स्टेशन के साथ-साथ बस स्टैंड भी थे जहां से हजारों यात्री हर रोज आते जाते थे इसके साथ-साथ आपको यह बता दूं कि जब से मीठापुर बस स्टैंड बंद हुआ है तब से इस एरिया में यात्री कम हो गए है।

उधर दूसरी तरफ राजधानी पटना का एक और एरिया जिसे जहां पर आप को यातायात हब आने वाले समय में देखने के लिए मिलेगा दरअसल आपको बता दूं कि पाटलिपुत्र बस टर्मिनल पूरे एरिया को यातायात हब बनाया जाएगा जहां पर पाटलिपुत्र बस टर्मिनल मेट्रो स्टेशन सहित कई निर्माण किए जाएंगे। आपको बता दूं कि पटना मेट्रो रेल परियोजना के कॉरिडोर 2 का अंतिम स्टेशन पाटलिपुत्र बस टर्मिनल मेट्रो स्टेशन राजधानी में मल्टीमॉडल हब के रूप में दिखेगा।

इसके साथ-साथ आपको यह भी बता दूं कि इन सभी का निर्माण 2025 तक कर लिया जाएगा। यह  परिवहन प्रणाली में मल्टी मॉडल सुविधा प्रदान करने वाले स्टेशन होंगे। इसके निकल पाटलिपुत्र बस स्टैंड भी होगा आपको बता दूं कि पटना मेट्रो का टर्मिनल के साथ-साथ पाटलिपुत्र बस स्टैंड दोनों आसपास ही होंगे जिससे यात्रियों को सबसे ज्यादा सुविधा मिलेगा।

इसके अलावा पाटलिपुत्र बस टर्मिनल एरिया में आपको यात्रियों की आने जाने के लिए मेट्रो स्टेशन में लिफ्ट सहित स्टेशन में बड़ा-बड़ा पार्किंग स्थल भी होगा जो  गांधी सेतु और बख्तियारपुर की ओर से आने वाली यात्रियों को सुविधा प्रदान करेगा।