मछली उत्पादन में बिहार चौथा स्थान पर, जानिए कौन सा जिला में सबसे ज्यादा होता है मछली उत्पाद

0
18274

बिहार अब धीरे-धीरे कई मायनों में देश का टॉप टेन राज्यों में शामिल हो रहा है। आपको बता दूं कि बिहार के कई ऐसे एग्रीकल्चर उत्पादों में अपना महत्व रखता है जो हमारे रोजमर्रा की जिंदगी में प्रयोग होता है। इसी बीच अब मछली उत्पादन में भी बिहार टॉप चार राज्यों में शुमार हो गया है। जहां पर बताया जा रहा है कि बिहार पूरे देश में चौथे स्थान पर शुमार हो गया है।

मछली पालन और इसके कारोबार में कई ऐसे बिहार के जिले हैं जो कि अहम योगदान निभा रहे हैं इसमें सबसे बड़ा योगदान बिहार के शेखपुरा का है। 5 वर्ष पहले तक मछली उत्पादन में बिहार का स्थान काफी नीचे था। लेकिन अब यह धीरे-धीरे ऊपरी पायदान पर बढ़ने लगा है। सरकार की आर्थिक सहयोग की वजह से शेखपुरा जिला अभी जमुई नालंदा नवादा लखीसराय और पटना जिला को ताजी मछली उपलब्ध करा रहा है। शेखपुरा जिला में 195 सरकारी और लगभग 200 निजी तलाक पर मछली पालन का काम तेजी से किया जा रहा है।

दरअसल आपको बता दूं कि इसकी जानकारी देते हुए विधान परिषद में सोमवार को सदस्य रामचंद्र पूर्वे के सवाल का जवाब देते हुए पशु एवं मत्स्य संसाधन विभाग के मंत्री किशोर प्रसाद ने कहा कि राज्य में मतस्य उत्पादन बढ़ा है लेकिन अभी दूसरे राज्यों से यहां 877 करोड़ रुपए की प्रति वर्ष मछली बिहार में मंगवाई जाती है। जहां पहले 2007 से 2008 में बिहार में 28 लाख 8000 टन सालाना मछली उत्पादन होता था। वही 2020 से 2021 में यह बढ़कर 76 लाख 2 हजार टन हो गया है।