बिहार यह जिला देगा सूरत को टक्कर, विकसित किए जाएंगे सूरत की तरह टेक्सटाइल हब लोगों को मिलेगा रोजगार

0
184

राज्य के विकास में अहम योगदान देता है वहां की इंडस्ट्री आपको बता दूं कि सबसे ज्यादा फैक्ट्री वाली राज्य जैसे की झारखंड गुजरात महाराष्ट्र आते हैं लेकिन बिहार भी अब इसमें तेजी से आगे बढ़ रहा है आपको बता दूं कि बिहार का एक ऐसा जिला है जिसे टैक्सटाइल हब के रूप में विकसित किया जा रहा है और आने वाले समय में या गुजरात के सूरत को टक्कर देगा।

उत्तर बिहार की आर्थिक राजधानी कहे जाने वाली मुजफ्फरपुर को इंडस्ट्री के क्षेत्र में तेजी से बढ़ावा देने के लिए कई परियोजना पर काम किया जा रहा है जिसके तहद मुजफ्फरपुर को टैक्सटाइल हब के रूप में विकसित किया जाएगा आपको बता दूं कि इस पर काम भी शुरू कर दिया गया है जिसके तहत यहां पर करीब-करीब बियाड़ा 120 करोड़ का प्रोजेक्ट बना रहा है आने वाले दिन में 20000 लोगों को इसका लाभ मिलेगा

वही यहां पर लगने वाले उद्योग धंधे पर अगर एक नजर डाले तो आपको बता दूं कि यहां पर कई उद्योग धंधे लग रहे हैं जिसमें आने वाले समय में आपको कई और उद्योग धंधे लगते हुए देखेंगे जिसमें बेल्ट, झोला, रेडीमेड गारमेंट बनाने की कंपनी आ रही है यहां पर अभी कई जीविका दीदी प्रशिक्षण ले रही है और लोगों को रोजगार भी मिल रहा है।

यहां पर उद्योग धंधे तेजी से फल-फूल सके और लग सके इसको लेकर उद्योग विभाग के प्रधान सचिव सचिव संदीप पुंडरीक ने आईडीपीएल परिसर में बन रहे प्लग एंड प्ले सेंटर का निरीक्षण करते हुए जानकारी दिया कर 6 महीनों के अंदर यहां पर कई सेड बनकर तैयार हो जाएंगे जहां पर प्लग एंड प्ले की सुविधा उपलब्ध होगी।