बिहार में 4 नए एक्सप्रेस-वे का होगा निर्माण, दिल्ली, कोलकाता सहित इन शहरों तक आना जाना होगा आसान

0
716

बिहार में आपको जल्द ही सड़क और भी चकाचक दिखेगा आपको बता दूं कि अभी फिलहाल पूरे देश में उत्तर प्रदेश एकमात्र ऐसा राज्य जहां पर सबसे ज्यादा एक्सप्रेसवे का जाल है। लेकिन जल्द ही बिहार इस मामले में पीछे नहीं दिखेगा, बिहार में भी बस कुछ ही सालों में आपको कई शानदार और चकाचक एक्सप्रेस वे पर गाड़ियों फर्राटा दौड़ती हुई दिखेगी।

गोरखपुर सिलीगुड़ी ग्रीनफील्ड एक्सप्रेसवे सबसे पहला एक्सप्रेसवे है गोरखपुर से सिलीगुड़ी के बीच एक्सप्रेस-वे का निर्माण होगा, आपको बता दूं कि गोरखपुर से सिलीगुड़ी के बीच जो एक्सप्रेस-वे का निर्माण होगा, वह भी बिहार से ही होकर गुजरने वाली है, आपको बता दूं कि इस एक्सप्रेस-वे की कुल लंबाई 519 किलोमीटर है, वहीं यह बिहार में कुल 416 किलोमीटर एक्सप्रेसवे गुजरेगी इसका निर्माण कुल 29000 करोड रुपए की लागत से किया जाएगा। इस एक्सप्रेस-वे के बनने से आपको कोलकाता और उत्तर प्रदेश और सिलीगुड़ी जाने में आसानी होगी।

वाराणसी कोलकाता ग्रीनफील्ड एक्सप्रेसवे वाराणसी से कोलकाता के बीच शानदार और पूरी तरह से नए एक्सप्रेस-वे का निर्माण किया जाएगा। यह  एक्सप्रेस भी  बिहार से होकर गुजरेगी, बताया जा रहा है कि बिहार के कैमूर रोहतास औरंगाबाद और गया होकर यह एक्सप्रेस गुजरेगा इसकी कुल लंबाई 686 किलोमीटर का होगा। इसका निर्माण 19000 करोड रुपए से किया जाएगा।

रक्सौल हल्दिया ग्रीनफील्ड एक्सप्रेसवे रक्सौल से हल्दिया के बीच शानदार बिल्कुल नए एक्सप्रेस-वे का निर्माण किया जाएगा और यह एक्सप्रेस वे भी बिहार से होकर गुजरेगी बताया जाए कि बिहार से रक्सौल पूर्वी चंपारण, मुजफ्फरपुर, वैशाली और हाजीपुर और बांका से होकर यह  एक्सप्रेस से गुजरेगी इस एक्सप्रेस वे कुल 6 लेन का होगा। इसका निर्माण 20 हजार करोड़ रुपए से किया जाएगा।

पटना आरा सासाराम ग्रीन फील्ड एक्सप्रेसवे पटना आरा सासाराम के बीच इस शानदार एक्सप्रेस-वे का निर्माण होगा जिसकी कुल लंबाई 110 किलोमीटर बताई जा रही है। यह एक्सप्रेस फॉर लेन का होगा। वहीं यह  एक्सप्रेस आरा रिंग रोड से जोड़कर 318 करो रुपए की लागत से इसका निर्माण होगा, नोट सांकेतिक फोटो।