बिहार में सेब की खेती के लिए राज्य सरकार दे रही है अनुदान, जानिए पूरी प्रक्रिया

0
183

अब तक सेब की खेती पहाड़ी इलाकों या ठंडे प्रदेशों में की जाती थी। लेकिन अब सेब के भी खेती बिहार में भी होने लगी है। दरअसल आपको बता दूं कि अब बिहारवासी कश्मीरी और हिमाचल का सेब नहीं खाएंगे बल्कि अब बिहार में ही उगे हुए सेब खा पाएंगे। आपको बता दूं कि अभी बिहार के कई ऐसे जिले हैं जहां पर सेब की खेती हो रही है और किसान मोटी रकम इससे कम आ रहे हैं।

वही आपको बता दूं कि अगर आप सेब की खेती करना चाहते हैं तो बिहार सरकार किसानों को सेबी खेती करने के लिए प्रोत्साहित कर रही है जिसकी मदद से किसानों की आय में बढ़ोतरी होगी एक आंकड़ों पर अगर नजर डाले तो अभी बिहार के बेगूसराय, भागलपुर, मुजफ्फरपुर, औरंगाबाद, वैशाली, कटिहार, समस्तीपुर के कुछ किसान सेव की खेती कर रहे हैं। आपको बता दूं कि बिहार में अभी हरमन 99 सहित कई किस्म की सेव की खेती की जाती है।

अगर आप भी सेव की खेती करना चाहते हैं तो आप भी सेव की खेती कर सकते हैं। इसके लिए सरकार आपका सहयोग करेगी सेव की खेती के लिए किसान बिहार सरकार के साइट horticulture.bihar.gov.in पर जाकर आवेदन कर सकते हैं। इससे संबंधित विशेष जानकारी जिला के सहायक निदेशक उद्यान से लिया भी जा सकता है। अगर आप वैशाली में रहते हैं और आपसे ही खेती करना चाहते हैं तो वैशाली के देसरी सेंटर ऑफ एक्सीलेंस में इसकी ट्रेनिंग दी जाती है। बतादें की सेब का क्षेत्र विस्तार करने के लिए सरकार किसानों को प्रति हेक्टेयर पर ढाई लाख रुपये तीन किस्तों में देगी. पहली किस्त में अनुदान का 60 फीसदी मिलेगा.और बचा अनुदान दो समान किस्तों में दिया जाएगा।

वहीं अगर सेब की खेती की बात करें तो अगर आप से खेती करना चाहते हैं तो आपको यह बता दो कि नवंबर से फरवरी तक पौधे लगाने का सही समय होता है हरमन 99 डोरसेट, गोल्डन, माइकल जैसी कई वैरायटी के लिए 40 से 50 डिग्री का तापमान सही माना जाता है. वही सेब लगाने के करीब 2 साल के बाद इसमें फूल आने लगते हैं दिसंबर और जनवरी में फूल लगते हैं और मई-जून में फल तैयार होने लगते हैं।