बिहार में बनेगा राज्य का पहला बायोडायवर्सिटी पार्क, हैंगिंग ब्रिज, नौका विहार सहित मिलेगा कई सुविधा

0
1873

वैसे तो अभी बिहार में कई पार्क का सौगात बिहार वासियों को मिल रहा है। जहां पर एक तरफ वाल्मीकि टाइगर रिजर्व है वहीं दूसरी तरफ अगर राजगीर में ही आपको कई खूबसूरत पर्यटक स्थलों का सौगात बिहार वासियों को मिला है। इसी बीच अब बिहार में आपको एक और शानदार बिहार का पहला बायो डायवर्सिटी पार्क का निर्माण होगा, जो अपने आप में बेहद ही खास होगा। यहां पर आपको कई शानदार सुविधाएं देखने के लिए मिलेगी, जैसे कि आपको हैंगिंग ब्रिज और नौका बिहार सहित कई सुविधाएं देखने के लिए आपको यहां मिलेगी।

दरअसल आपको बता दूं कि इस बायोडायवर्सिटी पार्क का निर्माण मोतिहारी से मुजफ्फरपुर बॉर्डर पर मेहसी के भीमलपुर जंगल में इसका निर्माण होगा। जहां पर बताया जा रहा है, कि इस नदी में बिहार का पहला नदी आधारित गंडक बायोडायवर्सिटी पार्क का निर्माण किया जाएगा, आपको बता दूँ की यह बायोडायवर्सिटी पार्क यमुना बायोडायवर्सिटी पार्क के तहत को विकसित किया जाएगा।

बताया जा रहा है, कि इस बायोडायवर्सिटी पार्क के लिए करीब 302 एकड़ के विशाल एरिया में जंगल फैला हुआ है। जिसके मध्य से बूढ़ी गंडक गुजरती है, वही इस विशाल जंगल को बायोडायवर्सिटी पार्क के रूप में विकसित किया जाएगा। जहां पर पहले चरण में हैंगिंग ब्रिज का निर्माण होगा इसको लेकर अभी प्लानिंग किया जा रहा है। उधर बताया जा रहा है, कि जंगल का मुआयना कर जिला के डीएम शिर्सत कपिल अशोक और अनुमंडल पदाधिकारी ने आदेश भी जारी कर दिया है, इस संबंध में वन विभाग लेकर विस्तार रूप से परियोजना तैयार करेगा, तस्वीर काल्पनिक।