बिहार के 22 शहरों को मिलेगा अमृत योजना का लाभ सीवरेज सेफ्टी पर होगा काम, देखे शहरों की लिस्ट

0
208

जब भी बिहार में शहरों की बात आती है तो बिहार के करीब करीब सभी शहरों में सीवरेज की सबसे बड़ी समस्या है जिस वजह से राजधानी पटना हो या मुजफ्फरपुर या भागलपुर बिहार के करीब करीब सभी शहरों में जलजमाव की समस्या रहती है। इसके अलावा आपको यह भी बता दूं कि बिहार के टॉप 5 से राजधानी पटना, गया, भागलपुर, मुजफ्फरपुर, दरभंगा है और इन शहरों में भी जलजमाव की समस्या रहती है।

उधर केंद्र सरकार के आवास एवं शहरी विकास मंत्रालय के अमृत यानी कि अटल नवीनकरन और शहरी परिवर्तन मिशन योजना 2025 से 26 तक विस्तार किया गया है जिसके बाद इसका लाभ बिहार को भी मिलने वाला है। बताया जा रहा है कि बिहार के 22 शहरों को इस योजना के लिए चयनित किया गया है अगले 3 सालों के दौरान 100 फ़ीसदी घरों में शौच, नल एवं गंदे जल का निकासी के लिए सीवरेज सेफ्टी कनेक्शन सहित अन्य व्यवस्था लागू किए जाएंगे।

उधर अटल नवीनीकरण और शहरी परिवर्तन मिशन के तहत बिहार के जिन शहरों का चयन किया गया है उसमें औरंगाबाद, बेगूसराय, भागलपुर, भोजपुर, बक्सर, दरभंगा, गया, जहानाबाद, कटिहार, किशनगंज, मुंगेर, मुजफ्फरपुर, नवादा, पशमी चंपारण, राजधानी पटना, पूर्वी चंपारण, पूर्णिया, रोहतास, सहरसा, सिवान और वैशाली जिला शामिल है। आपको जानकारी के लिए बता दूं कि अमृत 2.0 योजना को बेहतर ढंग से लागू करने के लिए अब नगर विकास एवं आवास विभाग प्रोफेशनल कंसल्टेंट की नियुक्ति की प्रक्रिया शुरू कर दी है। आंकड़ों पर नजर डालें तो 2015 से प्रारंभ अमृत मिशन पहले फेज में कुल 64 योजना ली गई थी जिसमें से अब तक 30 योजना को पूरा कर लिया गया है।