बिहार के 16 साल के हर्ष ने किया कमाल इसरो के रिसर्च प्रोजेक्ट में हुआ शामिल जानिए

0
155

16 साल की उम्र में बच्चों की खेलने की उम्र होती है लेकिन लेकिन देश के कई ऐसे प्रतिभा छात्र हैं जो कि 16 साल की उम्र में ही कई अपनी पहचान बना लेते हैं वहीं बिहार की बात करें तो बिहार में प्रतिभा की कमी नहीं है इसी बीच बिहार के एक छात्र ने महज 16 साल के बच्चे ने जिसके पिता ई रिक्शा चालक है उन्होंने इसरो रॉकेट रिसर्च प्रोजेक्ट में शामिल हुए हैं।

आपको बता दूं कि बिहार बाल भवन किलकारी साइंस विद्या के स्टूडेंट हरशराज का सिलेक्शन इस शुरू के देश का पहला रिन्यूएबल लॉन्च व्हीकल रॉकेट यानी कि अटल यान प्रोजेक्ट के लिए चयन किया गया है आपको जानकारी के लिए यह भी बता दूं कि पूरे देश से करीब करीब 3500 छात्रों का चयन हुआ है। इसी में बिहार के 16 साल के हर्ष का भी चयन हुआ है।

वही हर्ष के बारे में आपको जानकारी दे दूं कि हर्ष शटल यान के ईयर फीडिंग सिस्टम रिसर्च बोर्ड में 3 महीने इंटरेस्टेड इंटरनशिप ले चुका है। इन्हें हर्ष को अब तक और बीटेक से इंटर्नशिप का सर्टिफिकेट और अनुसंधानकर्ता का सर्टिफिकेट भी मिल चुका है आपको बता दूं कि हर्ष एक बेहद साधारण परिवार से आते हैं हर्ष के पिता ई रिक्शा चालक हैं घर की सारी जिम्मेदारी है उसके पिता के ऊपर ही है ओए हर्ष का एक छोटी बहन की है जो आठवीं क्लास में अभी पढ़ रही है और हर्ष की माता गिरी हुई है।