बिहार के इस कॉलेज के तारामंडल को यूनेस्को सूची में किया गया शामिल, 100 साल है पुराना इसका इतिहास जानिए

0
175

यूनेस्को के सूची में शामिल होने वाले बिहार के कई ऐसे ऐतिहासिक धरोहर है जो कि शामिल है इसी बीच बिहार के एक और ऐतिहासिक धरोहर को यूनेस्को की सूची में शामिल किया गया है। आपको बता दूं कि यूनेस्को के इस सूची में इस ऐतिहासिक धरोहर में बिहार के एक कॉलेज में स्थित तारामंडल को शामिल किया गया है। जो बिहारी का पहला तारामंडल है।

दरअसल आपको बता दूं कि बिहार के मुजफ्फरपुर शहर में स्थित लंगत सिंह कॉलेज जोकि बेहद शानदार है इसी कॉलेज में 106 साल पुराना एक तारामंडल स्थित है अब इस तरह मंडल को यूनेस्को के सूची में शामिल कर लिया गया है खगोलीय वेधशाला मुजफ्फरपुर को हाल में ही दुनिया के महत्वपूर्ण प्राय विरासत वेधशाला की यूनेस्को की सूची में शामिल किया गया है आपको बता दूं कि इसका स्थापना 1916 में की गई थी।

आपको बता दूं कि 1916 में इस तारामंडल का निर्माण विद्यार्थियों के खगोल जानकारी दी जाने के लिए इसकी स्थापना की गई थी। आपको बता दूं कि 70 के दशकों में यह बंद हो गया 4 साल पहले पत्रिका की एक लेख में यूनेस्को का ध्यान इस बेधसला गया इस बेधसाला के बारे में प्रोफ़ेसर जीएन सिंह ने 13 से 26 अक्टूबर 2018 की फ्रंटलाइन पत्रिका के अंक में एक “म्यूजियम के गिरावट” सिर्फ के एक लेख लिखा था जिस पर यूनेस्को को सदस्य का ध्यान गया।