बिहार इन जिलों में बरसात के बाद सोना सहित कई खनिज पदार्थों की शुरू होगी खनन जानिए

0
631

पूरे देश में खनिज पदार्थ सोना सहित कई अन्य खनिजों की बात करें तो इस प्राकृतिक संपदा में बिहार का पड़ोसी राज्य झारखंड सबसे संपन्न राज्य में से एक है। लेकिन अब बिहार भी इन मामलों में पीछे नहीं रहने वाला है। दरअसल आपको बता दूं कि बिहार के कई जिलों में आपको बरसात के बाद सोना, पोटैशियम सहित कई बहुमूल्य खनिज पदार्थ के खनन की प्रक्रिया प्रारंभ कर दी जाएगी।

दरअसल आपको बता दूं कि बिहार में इस साल बरसात के बाद सोना, पोटैशियम, मैग्नेटाइट, निकेल, क्रोमियम और पोटैशियम ग्रुप ऑफ एलिमेंट का खनन शुरू होगा। इसके लिए राज्य सरकार के स्तर पर जल्द ही नियमावली बनाई जाएगी बताया जा रहा है कि खनन के लिए एजेंसी का चयन के माध्यम से अगले 1 से 2 महीने में शुरू होने की संभावना है।

अगर बिहार में इन सभी खनिज पदार्थों की भंडार की बात करें तो रोहतास में करीब 25 वर्ग किमी इलाकों में पोटाश मिले हैं। इसके अलावा जिला के नावाडीह प्रखंड में 10 वर्ग किलोमीटर टीपा में 8 किमी और शाहपुर प्रखंड में 7 किलोमीटर का इलाका शामिल है।

पोटाश का बड़े पैमाने पर औषधि व रसायनिक खाद में इस्तेमाल किया जाता है इसके अलावा औरंगाबाद जिला की सीमा पर करीब करीब 8 वर्ग किलोमीटर के क्षेत्र में निकेल और क्रोमियम पाया गया है। इसके साथ-साथ जमुई जिला में भी करीब करीब 22.28 करोड टन सोना भंडार मौजूद होने की संभावना है। इसके अलावा बिहार के कहल गांव में लगभग 850 मिलियन टन कोयला भंडार है।