गांधी सेतु मजबूती जांच के सभी पैमाने पर खड़ा उत्तरा, जानिए कब से होगा शुरू

0
777

जहां गांधी सेतु अपनी अंतिम सांसे गिन रहा था। वहीं अब गांधी सेतु अब अपने नए रूप में बनकर तैयार हो चुका है। खबरों के अनुसार बताया जा रहा है कि अब गांधी सेतु की मजबूती के पैमाने की जांच पूरा हो चुका है। आपको बता दूं कि गांधी सेतु मजबूती जांच के पैमाने पर खरा उतरा है। जहां पर बताया जा रहा है, कि करीब करीब 25 25 टन वजनी के साथ अट्ठारह ट्रक पुल पर खड़े रखे गए वह भी 36 घंटे तक।

आपको बता दूं कि गांधी सेतु के दोनों लेन पर जल्द ही गाड़ियों का परिचालन किया जाना है। इससे पहले गांधी सेतु की मजबूती की विभिन्न पैरामीटर को परखने के लिए गांधी सेतु पर 25 25 टन की अट्ठारह ट्रक गांधी सेतु के विभिन्न हिस्सों में 36 घंटे तक खड़े रखे गए हैं। इसके बाद सेतू के डिस्प्लेसमेंट की जांच की गई जिसके बाद गांधी सेतु पूरी तरह से खरा उतरा है। आपको बता दूं कि इस गांधी सेतु के दोनों लेन पर 7 जून से गाड़ियों का परिचालन शुरू कर दिया जाएगा।

आपको बता दूँ की लंबे समय के इंतजार के बाद करीब करीब जून 2022 में 5 वर्षों के बाद महात्मा गांधी सेतु के दोनों लेन पर 7 जून से गाड़ियां फर्राटा दौड़ेगी। वहीं अगर गांधी सेतु की मरम्मत की बात की जाए तो इसकी मरम्मत की सहमति 2014 में इसकी गांधी सेतु के जर्जर हालात को देखते हुए सहमति बनी थी। वही 2017 में पुनर्निर्माण शुरू हुआ जिसमें पहले फेज में पश्चिमी लेन को आम जनता के लिए खोला गया उसके बाद करीब 5 सालों के बाद दूसरी लेनी 7 जून से आम लोगों के लिए खोल दिया जाएगा।